scorecardresearch

Punjab: कांग्रेस छोड़ने वाले कैप्टन अब BJP में कर सकते हैं अपनी पार्टी का विलय, जानें क्या है मजबूरी

पीएम मोदी ने 27 जून 2022 को अमरिंदर सिंह की सर्जरी के बाद उनके स्वास्थ्य के बारे में जानकारी लेने के लिए फोन किया था। कैप्टन के राजनीतिक सचिव ने बताया कि यह कॉल सिर्फ कैप्टन साहब का हालचाल जानने के लिए था।

Amrinder Singh| Punjab| Punjab Election
कैप्टन अमरिंदर सिंह( एक्सप्रेस फाइल फोटो)

पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह की पार्टी पंजाब लोक कांग्रेस का भारतीय जनता पार्टी (BJP) में विलय होने जा रहा है। फिलहाल कैप्टन अमरिंदर सिंह इलाज कराने विदेश गए हैं। उनके लौटने के बाद विलय का औपचारिक ऐलान किया जाएगा। अमरिंदर सिंह के सर्जरी कराकर लंदन से लौटने के बाद इस पर अंतिम मुहर लगाई जाएगी।

कैप्टन अमरिंदर सिंह ने सितंबर 2021 में पंजाब के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था। इसके बाद नवंबर 2021 में उन्होंने कांग्रेस पार्टी भी छोड़ दी थी। उन्होंने कहा था कि कांग्रेस पार्टी और कांग्रेस नेताओं ने जिस तरह का व्यवहार उनके साथ किया, वो ठीक नहीं है। पंजाब विधानसभा चुनाव (Punjab Assembly Elections) से ठीक पहले साल 2021 में अमरिंदर सिंह ने अपनी नई पार्टी पंजाब लोक कांग्रेस बनाई थी।

बीजेपी में नहीं मिलता टिकट: कैप्टन की उम्र 80 साल है और इतनी उम्र वाले को बीजेपी में टिकट नहीं दी जाती, इसी वजह से कैप्टन अमरिंदर ने अलग पार्टी बनाई थी। अमरिंदर सिंह ने पंजाब लोक कांग्रेस का गठन करने के बाद BJP और SAD (संयुक्त) के साथ के साथ गठबंधन कर विधानसभा चुनाव लड़ा था। चुनाव आयोग की ओर से कैप्टन अमरिंदर सिंह की पार्टी को ‘हॉकी स्टिक और गेंद’ चुनाव चिह्न आवंटित किया गया था। पंजाब लोक कांग्रेस ने विधानसभा चुनाव में 37 सीटों पर, भाजपा ने 65 सीटों पर और शिरोमणि अकाली दल (संयुक्त) ने 15 सीटों पर चुनाव लड़ा था।

चुनाव में मिली थी हार: कैप्टन अमरिंदर सिंह खुद पटियाला शहर से चुनावी मैदान में थे लेकिन उन्हें हार का सामना करना पड़ा था। आम आदमी पार्टी के अजितपाल सिंह कोहली ने अमरिंदर सिंह को 13 हजार वोटों से मात दी थी। हालांकि, पीएलसी के भाजपा के साथ विलय के बारे में चर्चा पर, अमरिंदर के राजनीतिक सचिव मेजर अमरदीप ने लंदन से इंडियन एक्सप्रेस से बात करते हुए कहा कि इस बारे में समय आने पर बताया जाएगा।

वहीं, दूसरी ओर भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य हरजीत ग्रेवाल ने कहा कि अमरिंदर सिंह के लंदन जाने से पहले पीएलसी का भाजपा में विलय हो गया था और उनके वापस लौटने के बाद इसकी औपचारिक घोषणा की जाएगी। चुनाव में पीएलसी की खराब परफॉर्मेंस के बावजूद उन्हें बीजेपी में शामिल करने के सवाल पर ग्रेवाल ने कहा, “भाजपा पंजाब में साम्प्रदायिक सद्भाव के लिए और पंजाब को राष्ट्रीय मुख्यधारा से जोड़ने के लिए खुद को मजबूत कर रही है इसलिए इन प्रयासों में भाजपा में शामिल होने वाले सभी लोगों का पार्टी में शामिल होने में स्वागत है।”

पढें राज्य (Rajya News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

X