ताज़ा खबर
 

फेसबुक पर लड़कियों की प्रोफाईल बना करते थे कांड, पंजाब पुलिस ने किया पाकिस्तानी जासूसी नेटवर्क का भंडाफोड़

पंजाब पुलिस ने राज्य में चल रहे पाकिस्तानी जासूसी नेटवर्क का भंडाफोड़ किया है। पुलिस की स्पेशल ऑपरेशन सेल ने सेना की तरफ से मिली खुफिया सूचना के आधार पर कार्रवाई करते हुए अमृतसर से रवि कुमार नाम के एक शख्स को दबोचा है, जिस पर पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी के लिए काम करने का आरोप है
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीकात्मक तौर पर किया गया है।

पंजाब पुलिस ने राज्य में चल रहे पाकिस्तानी जासूसी नेटवर्क का भंडाफोड़ किया है। पुलिस की स्पेशल ऑपरेशन सेल ने सेना की तरफ से मिली खुफिया सूचना के आधार पर कार्रवाई करते हुए अमृतसर से रवि कुमार नाम के एक शख्स को दबोचा है, जिस पर पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी के लिए काम करने का आरोप है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक रवि कुमार मूल रूप से राज्य के ढंलेके गांव का रहने वाला है और उसे अमृतसर के छतिवाल से गिरफ्तार किया गया है। पुलिस के मुताबिक आरोपी ने पूछताछ के दौरान अपना गुनाह कबूल भी किया है और कई चौंकाने वाली बातें उगली हैं। पुलिस के मुाताबिक पाकिस्तानी एजेंट ने बताया कि कैसे वह आईएसआई के लिए काम करने लगा। पुलिस की जांच में सामने आया है कि भारत विरोधी पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई और दूसरी जासूसी एजेंसियां भारत के बेरोजगार युवकों या ऐसे लोगों को अपने जाल में फंसाती हैं जो सेना में काम करते हैं या कर चुके हैं।

इसके लिए ये पाकिस्तानी एजेंसियां फेसबुक आदि सोशल मीडिया माध्यमों का सहारा लेती हैं। वे फेसबुक पर खूबसूरत पाकिस्तानी लड़कियों के नाम और तस्वीर से प्रोफाइल बनाती हैं और उनके जरिये लोगों को फंसाती हैं। ऐसे ही एक झांसे में रवि कुमार ने फंसने की बात पुलिस को बताई। पुलिस के मुताबिक आरोपी रवि कुमार पिछले 7 महीनों से आईएसआई के संपर्क में था और इस दौरान उसने भारतीय सेना से जुड़ी खुफिया सूचनाएं पाकिस्तानी एजेंसी को मुहैया कराईं। इनमें बंकर बनाने, सेना की गाड़ियों के आने-जाने और ट्रेनिंग संबंधी जानकारियां शामिल थीं।

पुलिस को रवि कुमार के पास से जो साक्ष्य बरामद हुए हैं उनमें खुफिया दस्तावेज शामिल हैं। उनमें हस्त निर्मित नक्शे और ट्रेनिंग मैनुअल की कॉपियां मिली हैं। पुलिस के मुताबिक आरोपी ने पूछताछ में बताया कि आईएसआई ने 20-24 फरबरी के बीच उसे आगे का काम सौंपने के लिए दुबई बुलाया था, जहां उसके आने-जाने और ठहरने का खर्चा आईएसआई ने ही उठाया था। फिलहाल पुलिस मामले तफ्तीश में लगी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App