ताज़ा खबर
 

ड्रग्‍स सप्‍लाई-बेचने वालों को मौत की सजा, पंजाब सरकार केंद्र को भेजेगी प्रस्‍ताव

पंजाब में 15 महीनों से सत्ता पर काबिज अमरिंदर सिंह की सरकार पर विपक्ष ने मादक पदार्थों की समस्या को समाप्त करने में विफल रहने का आरोप लगाया था, जिसके बाद मुख्यमंत्री ने मादक पदार्थों की समस्या से निपटने के तरीकों पर चर्चा करने और इस समस्या से जुड़े मामलों की जांच की प्रगति की समीक्षा करने के लिए सोमवार को मंत्रिमंडल की बैठक बुलाई थी।

मीटिंग करते पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (फोटो सोर्स- ट्विटर/@capt_amarinder)

पंजाब सरकार ने ड्रग्स बेचने और सप्लाई करने वालों के खिलाफ सख्त रुख अपना लिया है। राज्य की सरकार जल्द ही केंद्र को एक प्रस्ताव भेजकर ड्रग्स बेचने और सप्लाई करने वालों के लिए मौत की सजा की मांग करने की योजना में है। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने ट्विटर के माध्यम से इस बात की जानकारी दी है। कैप्टन ने एक तस्वीर शेयर करते हु लिखा है कि उनकी सरकार ड्रग्स सप्लाई और बेचने वालों के खिलाफ केंद्र को प्रस्ताव भेज रही है। कैप्टन द्वारा शेयर की गई तस्वीर में वह वाली मंत्रियों के साथ मीटिंग करते हुए दिख रहे हैं।

उन्होंने ट्वीट कर कहा, ‘हमारी सरकार ड्रग्स बेचने और सप्लाई करने वालों के लिए मौत की सजा मांग कर रही है और इसके लिए हम केंद्र सरकार के सामने प्रस्ताव भी भेज रहे हैं। जैसा कि हर कोई जानता है ड्रग्स के कारण पूरी एक पीढ़ि बर्बाद हो रही है, इसलिए इसको बढ़ावा देने वालों को कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए। मैं ड्रग्स मुक्त पंजाब बनाने के अपने वादे को लेकर प्रतिबद्ध हूं।’

बता दें कि पंजाब में 15 महीनों से सत्ता पर काबिज अमरिंदर सिंह की सरकार पर विपक्ष ने मादक पदार्थों की समस्या को समाप्त करने में विफल रहने का आरोप लगाया था, जिसके बाद मुख्यमंत्री ने मादक पदार्थों की समस्या से निपटने के तरीकों पर चर्चा करने और इस समस्या से जुड़े मामलों की जांच की प्रगति की समीक्षा करने के लिए सोमवार को मंत्रिमंडल की बैठक बुलाई थी। पिछले साल फरवरी में विधानसभा चुनाव के दौरान अमरिंदर ने वादा किया था कि सत्ता में आने के बाद वह चार सप्ताह में प्रदेश से मादक पदार्थ की समस्या समाप्त कर देंगे। उनका दावा है कि उनकी सरकार ने मादक पदार्थ की समस्या को काबू किया है। प्रदेश में जून महीने के दौरान मादक पदार्थो के सेवन से 33 लोगों की मौत हो गई। सरकार के एक प्रवक्ता ने शनिवार को कहा, “मुख्यमंत्री ने मसले पर विचार करने के लिए बैठक बुलाई है। यह बैठक खासतौर से राज्य में हाल ही में मादक पदार्थो से हुई मौतों को लेकर बुलाई गई है।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X