punjab government appointed navjot singh sidhu son karan singh sidhu assistant advocate general - नवजोत सिंह सिद्धू के बेटे को पंजाब सरकार में मिला बड़ा पद, बनाए गए असिस्टेंट एडवोकेट जनरल - Jansatta
ताज़ा खबर
 

नवजोत सिंह सिद्धू के बेटे को पंजाब सरकार में मिला बड़ा पद, बनाए गए असिस्टेंट एडवोकेट जनरल

पंजाब सरकार ने हाल ही में नवजोत सिंह सिद्धू की पत्नी नवजोत कौर सिद्धू को भी पंजाब वेयरहाउसिंग कॉरपोरेशन की चेयरपर्सन नियुक्त किया था। हालांकि अभी तक नवजोत कौर सिद्धू ने ऑफिस ज्वाइन नहीं किया है।

नवजोत सिंह सिद्धू के बेटे को पंजाब सरकार ने दिया बड़ा पद। (express photo)

कांग्रेस नेता और पंजाब सरकार में मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू के बेटे करण सिंह सिद्धू को पंजाब सरकार में बड़े पद से नवाजा गया है। दरअसल पंजाब सरकार ने अपनी लीगल टीम में नई नियुक्तियां की हैं, जिसके तहत गुरुवार को 3 एडिशनल एडवोकेट जनरल, 14 असिस्टेंट एडवोकेट जनरल और 11 डिप्टी एडवोकेट जनरल बनाए गए हैं। इन्हीं में से एक असिस्टेंट एडवोकेट जनरल के पद पर करण सिंह सिद्धू की नियुक्ति हुई है। बता दें कि पंजाब सरकार के वकीलों की यह नई टीम पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट एवं सुप्रीम कोर्ट में राज्य सरकार का पक्ष रखेगी। 29 वर्षीय करण सिंह सिद्धू इससे पहले अपने पिता और मां नवजोत कौर सिद्धू के लिए पंजाब विधानसभा चुनावों में प्रचार करते नजर आए थे।

उल्लेखनीय है कि पंजाब सरकार ने हाल ही में नवजोत सिंह सिद्धू की पत्नी नवजोत कौर सिद्धू को भी पंजाब वेयरहाउसिंग कॉरपोरेशन की चेयरपर्सन नियुक्त किया था। हालांकि अभी तक नवजोत कौर सिद्धू ने ऑफिस ज्वाइन नहीं किया है। बता दें कि हाल ही नवजोत सिंह सिद्धू को सबसे बड़ी राहत मिली थी। दरअसल सुप्रीम कोर्ट ने नवजोत सिंह सिद्धू को रोडरेज के चर्चित मामले में बरी कर दिया था। हालांकि पहले पंजाब सरकार ने सिद्धू का विरोध करते हुए उन्हें इस मामले में बरी किए जाने का विरोध किया था।

गौरतलब है कि इससे पहले जब रोडरेज का मामला पंजाब और हरियाणा कोर्ट में था, तब भी पंजाब सरकार ने नवजोत सिंह सिद्धू का विरोध किया था। रोडरेज का यह मामला 27 दिसंबर 1988 का है, जब सिद्धू अपने दोस्त के साथ कार से कहीं जा रहे थे, तभी 65 वर्षीय गुरनाम सिंह के साथ उनका झगड़ा हो गया और मारपीट हो गई। घटना के बाद गुरनाम सिंह को अस्पताल ले जाया गया, जहां उनकी मौत हो गई।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App