लखीमपुर मामले पर सिद्धू ने लिया मौन व्रत, बोले- जब तक टेनी का बेटा अरेस्ट नहीं होता, तब तक करता रहूंगा हड़ताल

लखीमपुर खीरी पहुंचे पंजाब कांग्रेस चीफ नवजोत सिंह सिद्धू ने भूख हड़ताल शुरू कर दी है। इसके साथ ही सिद्धू ने मौनव्रत भी शुरू कर दिया है। सिद्धू ने कहा कि जबतक आशीष मिश्रा की गिरफ्तारी नहीं हो जाती है, उनका हड़ताल जारी रहेगा।

navjot singh sidhu, lakhimpur kheri, priyanka gandhi
भूख हड़ताल पर बैठे नवजोत सिंह सिद्धू (फोटो- एएनआई)

लखीमपुर हिंसा मामले में पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू ने मौन व्रत का ऐलान कर दिया है। सिद्धू शुक्रवार को लखीमपुर पहुंचे थे, जहां उन्होंने हिंसा में मारे गए किसानों के परिवारों से मुलाकात की। यहीं कांग्रेस नेता ने अपने हड़ताल की भी घोषणा कर दी।

नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि जबतक लखीमपुर हिंसा का आरोपी गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी के बेटे आशीष मिश्रा की गिरफ्तारी नहीं हो जाती वो मौन व्रत पर रहेंगे। सिद्धू इस हिंसा में मारे गए स्थानीय पत्रकार रमन कश्यप के यहां उनके परिजनों से मुलाकात करने पहुंचे थे। जहां उन्होंने कहा- “जब तक मिश्रा जी के बेटे आशीष के ऊपर कार्रवाई नहीं होती, वो जांच में शामिल नहीं होता, मैं यहां भूख हड़ताल पर बैठूंगा। इसके बाद मैं मौन हूं कोई बात नहीं करूंगा”।

इसके बाद नवजोत सिंह सिद्धू ने वहीं पर भूख हड़ताल शुरू कर दी। इससे पहले सिद्धू को गुरुवार को उत्तर प्रदेश के सहारनपुर सीमा पर हिरासत में लिया गया था। जिसके बाद उन्हें जब छोड़ा गया तो वो आज लखीमपुर पहुंचे।

प्रियंका ने झाड़ू उठा जताया विरोध- उधर लखीमपुर से लौटने के बाद प्रिंयका गांधी अब पूरी तरह से योगी सरकार पर हमलावर दिख रही हैं। सीएम योगी के एक बयान के विरोध में प्रियंका अचानक से लखनऊ के इंदिरा नगर के लवकुश नगर पहुंच गई। दलितों की इस बस्ती में प्रियंका गांधी ने झाड़ू लगातार योगी के बयान का विरोध जताया।

सीएम योगी ने प्रियंका पर सीतापुर गेस्ट हाउस में झाड़ू लगाने के सवाल पर कहा था कि लोगों ने उन्हें इसी लायक छोड़ा है। जिसके बाद प्रियंका गांधी ने पलटवार किया। इंदिरा नगर पहुंची प्रियंका गांधी ने कहा कि झाड़ू लगाना स्वाभिमान और सादगी का प्रतीक है। हर रोज करोड़ों महिलाएं और सफाईकर्मी झाड़ू लगाते हैं।

बता दें कि लखीमपुर जाने के दौरान प्रियंका गांधी को गिरफ्तार करके सीतापुर गेस्ट हाउस में रखा गया था। जहां उन्होंने अपने कमरे में खुद झाड़ू लगाकर सफाई की थी। इसका एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। प्रियंका के इसी काम पर योगी ने निशाना साधा था।

लखीमपुर हिंसा में चार किसान, एक पत्रकार और तीन बीजेपी कार्यकर्ता मारे गए थे। इस मामले में किसान संगठनों का आरोप है कि केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के बेटे की गाड़ियों ने प्रदर्शन कर रहे किसानों को रौंद दिया था। जिसके बाद हिंसा भड़क गई। इस पूरी घटना में आठ लोगों की मौत तो दर्जनों लोग घायल हो गए थे।

पढें राज्य समाचार (Rajya News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट