पंजाबः आंखें सबके पास, पर विजन नहीं, सिद्धू बोले- चुनाव में सबसे बड़ा मुद्दा होगा रोजगार, हम देंगे रोडमैप, पाक से कारोबार पर कही ये बात

भारत-पाक व्यापार के बारे में बात करते हुए सिद्धू ने कहा कि दोनों देशों के बीच व्यापार फिर से शुरू करने की जरूरत है। इससे सभी को फायदा होगा।

Navjot singh sidhu, punjab congress pc
अमृतसर में प्रेस कांफ्रेंस करते पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू (फोटो- Navjot Singh Sidhu)

पंजाब चुनाव को लेकर कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि आंखे सबके पास है, लेकिन विजन नहीं। उन्होंने कहा कि विधानसभा चुनाव में सबसे बड़ा मुद्दा रोजगार का होगा। कांग्रेस, जनता के सामने रोडमैप रखेगी। इसके साथ ही उन्होंने केंद्र सरकार से पाकिस्तान के साथ व्यापार फिर से शुरू करने का भी आग्रह किया।

अमृतसर में एक प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित करते हुए सिद्धू ने ये बातें कही। उन्होंने कहा- इस चुनाव में रोजगार सबसे बड़ा मुद्दा होने जा रहा है। मैं आपको गारंटी देता हूं कि थोड़े समय के भीतर हम आपको एक विजन देंगे। सभी के पास आंखें हैं, पर कुछ के पास ही विजन है”।

पंजाब कांग्रेस प्रमुख ने भारत-पाक व्यापार के बारे में बात करते हुए कहा कि दोनों देशों के बीच व्यापार फिर से शुरू करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि दुनिया के 34 देशों के बीच व्यापार का दायरा 37 अरब डॉलर का है। वहीं भारत केवल 3 अरब डॉलर का व्यापार कर रहे हैं। ये क्षमता का 5 प्रतिशत भी नहीं है। सिद्धू ने कहा- “मैंने पहले भी अनुरोध किया था, मैं एक बार फिर से अनुरोध कर रहा हूं कि व्यापार फिर से शुरू हो। इससे सभी को फायदा होगा।”

उन्होंने आगे पंजाब को लेकर कहा कि राज्य को पिछले 34 महीनों में 4,000 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है और लगभग 15,000 नौकरियां चली गई हैं। सिद्धू ने कहा कि व्यापार के लिए अटारी सीमा क्यों नहीं खोल सकते? अगर केंद्र सरकार इसे खोलती है, तो इससे पंजाब की अर्थव्यवस्था को बढ़ावा मिलेगा।” वहीं एमएसपी की मांग को लेकर सिद्धू ने दावा किया कि स्वामीनाथन की रिपोर्ट के अनुसार, न्यूनतम समर्थन मूल्य से किसानों को हर तरह से लाभ होगा।

बता दें कि 2017 के पंजाब विधानसभा चुनावों में, कांग्रेस ने 77 सीटें जीतकर राज्य में पूर्ण बहुमत हासिल किया था और कैप्टन अमरिंदर सिंह मुख्यमंत्री बनाए गए थे। हालांकि इसी साल सिद्धू के साथ विवादों और कांग्रेस अलाकमान के साथ नाराजगी के बाद कैप्टन ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था। जिसके बाद चरणजीत सिंह चन्नी को मुख्यमंत्री बनाया गया है।

पढें राज्य समाचार (Rajya News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट