ताज़ा खबर
 

पूर्व सैनिकों की मदद के फंड में ‘योगदान’ के लिए काटी कर्मचारियों की सैलरी, कहा- विरोध मत करें, यह राष्ट्रीय कर्तव्य

पुणे नगर निगम ने शहीद व सेवानिवृत्त हो चुके सैनिकों के परिवारों को वित्तीय मदद के लिए जुटाए जा रहे आर्म्ड फोर्सेस फ्लैड डे फंड में योगदान के लिए सभी कर्मचारियों के मई महीने के वेतन का कुछ हिस्सा काटे जाने का आदेश जारी किया है। कर्मचारियों से कहा गया है कि उन्हें इस आदेश का विरोध नहीं करना चाहिए।

Author Updated: May 18, 2019 2:28 PM
अतिरिक्त निगम आयुक्त ने योगदान को बताया राष्ट्रीय कर्त्तव्य। (फाइल फोटो)

पुणे नगर निगम ने ने शुक्रवार को सभी कर्मचारियों के मई महीने में वेतन से एक निर्धारित राशि की कटौती किए जाने संबंधी आदेश जारी किया। कर्मचारियों के वेतन में  कटौती आर्म्ड फोर्सेज फ्लैग डे फंड में योगदान के लिए की जाएगी। इस फंड का प्रयोग शहीद व सेवानिवृत्त सैनिकों के परिवारों की आर्थिक मदद के लिए किया जाता है।

निगम प्रशासन ने यह स्पष्ट रूप से कहा कि स्टाफ को इस ‘योगदान’ का विरोध नहीं करना चाहिए। अतिरिक्त निगम आयुक्त रुबल अग्रवाल की तरफ से जारी आदेश में कहा गया कि फ्लैग डे फंड में योगदान राष्ट्रीय कर्त्तव्य है। इसलिए निगम कर्मचारी और अधिकारियों को इसका विरोध नहीं करना चाहिए। सेलरी स्लिप तैयार करने वाले क्लर्क इंचार्ज हर कर्मचारी और अधिकारी के वेतन की राशि से कटौती सुनिश्चित करें।

सामान्य तौर पर संबंधित जिला कलेक्टर और जिला सैनिक कल्याण बोर्ड के अधिकारी सरकारी कर्मचारियों से फंड में योगदान देने की अपील करते हैं। अग्रवाल की तरफ से जारी आदेश में कहा गया, ‘इस साल फ्लैग डे फंड में योगदान देने की अपील की गई है।

इसलिए सभी निगम कर्मचारियों और अधिकारियों को अपने वेतन से योगदान देना सुनिश्चित करना होगा। क्लास 1 अधिकारी 350 रुपये, क्लास 2 अधिकारी 275, क्लास 3 कर्मचारी 200 और क्लास 4 कर्मचारियों को  100 रुपये का योगदान करना चाहिए। ‘

पुणे नगर निगम के आदेश मे ंकहा गया है कि भारतीय सैनिक सीमा की निगरानी कर देश के नागरिकों को सुरक्षित करते हैं। साथ ही हमारे देश मे  स्वतंत्रता और शांति को सुनिश्चित करते हैं। यह हर भारतीय नागरिक का कर्त्तव्य है कि वह शहीदों के परिवों की वित्तीय स्थिरता सुनिश्चित करने के लिए फंड में योगदान देना होगा।

अतिरिक्त निगम आयुक्त ने कहा कि उन्हें पूरा विश्वास है कि निगम कर्मचारी यूनियन की तरफ से कोई विरोध नहीं किया जाएगा। हमनें सभी निगम कर्मचारियों और अधिकारियों से यह आग्रह किया है कि वे अपने मई महीने के वेतन से योगदान करें। भारतीय सैन्य बलों और उनके परिवारों के योगदान का सम्मान करने के लिए 7 दिसंबर को फ्लैग डे के रूप में मनाया जाता है।

Next Stories
1 UP: उन्नाव में आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे पर बस और ट्रॉली की टक्कर में 5 की मौत, गुरुग्राम से बिहार जा रहे थे यात्री
2 यहां आरती के लिए थम जाती है अजान, पंडित को मौलाना कहते हैं राम-राम! सांप्रदायिक सौहार्द की मिसाल है एक दीवार से जुड़े यह मंदिर-मस्जिद
3 Odisha: 4 पुलिसकर्मियों पर 8 दिन तक नाबालिग से रेप का आरोप, पीड़िता ने खुद ही थाने जाकर FIR दर्ज कराई
यह पढ़ा क्या?
X