ताज़ा खबर
 

ट्रिपल तलाक केस में होनी थी सुनवाई, अदालत में पति ने बीवी पर फेंका पेट्रोल

दंपति की शादी मई 2015 में हुई थी। मगर दोनों के रिश्ते ज्यादा दिन चल न सके। फरवरी 2017 में उसे महिला को पति ने तीन तलाक देते हुए एक लीगल नोटिस भिजवाया था। पत्नी ने जवाब में कहा- वह तीन तलाक नहीं कबूलेगी, जिसके बाद उसने कोर्ट का दरवाजा खटखटाया।

तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है। (फाइल फोटो)

ट्रिपल तलाक के मामले पर अदालत में सुनवाई होनी थी। मगर उससे पहले ही पति ने पत्नी पर पेट्रोल फेंक दिया। अदालत परिसर में मौजूद वकील और पुलिस वाले यह नजारा देख दंग रह गए। आनन-फानन में उन्होंने पेट्रोल फेंकने वाले शख्स को पकड़ा और मामला शांत कराया। यह घटना महाराष्ट्र के पुणे शहर से जुड़ी है।

मंगलवार (19 जून) दोपहर शिवाजी नगर स्थित फैमिली कोर्ट में ट्रिपल तलाक के मामले पर सुनवाई होनी थी, जिसमें पिछले साल पति ने पत्नी तो ट्रिपल तलाक दे दिया था। महिला ने उस मामले में मदद को लेकर अदालत का दरवाजा खटखटाया था। सुनवाई के लिए वे दोनों अदालत परिसर में थे, तभी पति ने पत्नी पर केस वापस लेने के लिए दबाव बनाया और धमकी दी। वह नहीं मानी, तो शख्स ने उस पर पेट्रोल फेंक दिया।

दंपति की शादी मई 2015 में हुई थी। मगर दोनों के रिश्ते ज्यादा दिन चल न सके। फरवरी 2017 में उसे महिला को पति ने तीन तलाक देते हुए एक लीगल नोटिस भिजवाया था। पत्नी ने जवाब में कहा- वह तीन तलाक नहीं कबूलेगी, लिहाजा यह मामला फैमिली कोर्ट पहुंचा।

पीड़िता के पिता ने बताया, “वह (दामाद) लगातार केस वापस लेने पर दबाव बना रहा था। यहां तक कि उसने पैसे का लालच भी दिया। मगर बेटी ने समझौता करने से मना कर दिया था। ऐसे में उसने बेटी को धमकाना शुरू कर दिया था। दामाद बोला था कि वह उसे और नहीं झेल सकता, लिहाजा उसने उस पर पेट्रोल फेंक दिया।”

उन्होंने आगे कहा, “गनीमत थी कि घटना के दौरान वहां कुछ वकील और पुलिस वाले थे, जिन्होंने उसे काबू कर लिया था। अगर वह उसे न पकड़ते, तो आगे कुछ भी हो सकता था।” शिवाजीनगर पुलिस थाने में इसके बाद आरोपी पति के खिलाफ शिकायत दी गई। महिला ने इससे पहले पिछले साल मार्च में पति समेत आठ लोगों के खिलाफ मानसिक रूप से प्रताड़ित व शारीरिक शोषण करने का आरोप लगाया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App