ताज़ा खबर
 

Pulwama Terror Attack: सेना ने कहा- जो बंदूक उठाएगा मार दिया जाएगा, कश्मीर की माएं अपने नौजवान बेटों को समझाएं

Kashmir Pulwama Terror Attack: पुलवामा में 14 फरवरी को हुए आतंकी हमले को लेकर सेना और सीआरपीएफ ने मंगलवार को साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस की। इस दौरान सेना ने कहा कि जो बंदूक उठाएगा, मार दिया जाएगा।

सेना, सीआरपीएफ और जम्मू-कश्मीर पुलिस की प्रेस कांफ्रेंस फोटो सोर्स- ANI

Kashmir Pulwama Terror Attack: जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में 14 फरवरी को हुए आतंकी हमले को लेकर सेना और सीआरपीएफ ने मंगलवार को साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस की। इस दौरान सेना ने कहा कि जो बंदूक उठाएगा, मार दिया जाएगा। हालांकि, उन्होंने कश्मीर की महिलाओं से अपील की कि वे अपने नौजवान बेटों को समझाएं और आतंक के रास्ते पर जाने से रोकें। सेना ने कहा कि अभी ठंड और खराब मौसम के चलते घुसपैठ की घटनाएं बढ़ी हैं लेकिन हम उन्हें  रोकने की पूरी कोशिश कर रहे हैं। सेना के मुताबिक पाकिस्तान लगातार घुसपैठ की कोशिश कर रहा है।

100 घंटे में मारे जैश के आतंकी: भारतीय सेना की चिनार कॉर्प्स के कमांडर कंवलजीत सिंह ढिल्लो ने पुलवामा के शहीदों को श्रद्धांजलि दी। इस दौरान कहा, “पुलवामा में हुए आतंकी हमले में पाकिस्तान की सेना और आईएसआई का हाथ है। भारतीय सेना ने जवाबी कार्रवाई करते हुए 100 घंटे के अंदर घाटी में मौजूद जैश के सभी आतंकियों को मार गिराया है। जैश-ए-मोहम्मद पाकिस्तान की सेना का ही बच्चा है।”

Kashmir Pulwama Terror Attack LIVE Updates जानें कब-क्या हुआ

पुलिस की  भर्ती में आई कमी: कश्मीर के आईजीपी एसपी पाणि ने कहा कि पुलिस में भर्ती होने वालों में काफी कमी आ गई है। पिछले तीन महीने के दौरान कोई भी भर्ती नहीं हुई है। इसमें युवाओं के परिवार वाले ही अहम योगदान दे सकते हैं। हम लोगों से अपील करते हैं कि वे युवाओं को प्रोत्साहित करें और सेना व पुलिस में भर्ती होने के लिए भेजें।

14 फरवरी को हुआ था हमला : बता दें कि 14 फरवरी की दोपहर जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी आदिल अहमद डार ने सीआरपीएफ के काफिले में शामिल एक बस में विस्फोटक से भरी कार से टक्कर मार दी थी। इस हमले में बस के परखच्चे उड़ गए थे और उसमें सवार सभी 39 जवान शहीद हो गए थे। वहीं, रोड सेफ्टी टीम के एक जवान को भी शहादत मिली थी। सीआरपीएफ के इस काफिले में 78 गाड़ियां शामिल थीं, जिनमें करीब 2500 जवान सवार थे। ये जवान जम्मू से श्रीनगर अपनी पोस्टिंग पर जा रहे थे। इनमें से अधिकतर जवान छुट्टियां बिताकर लौटे थे।

गौरतलब है कि पुलवामा हमले के बाद पिंगलिना क्षेत्र में सोमवार को सेना और आतंकियों की 18 घंटे तक मुठभेड़ चली। जिसमें सेना की राष्ट्रीय राइफल्स और पैरा फोर्सेज की टीम ने तीन आतंकियों को मार गिराया है, जिसमें जैश-ए-मोहम्मद के दो टॉप कमांडर भी शमिल हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Kumbh Mela 2019: माघ पूर्णिमा का पवित्र स्नान आज, संगम में डुबकी लगाएंगे 50 लाख से ज्यादा श्रद्धालु
2 UP Police Constable Result : 41520 पदों का रिजल्ट घोषित, जानिए कौन हैं टॉप करने वाले विनय और प्रिंसी