ताज़ा खबर
 

Pulwama Attack: आतंकवाद के मुद्दे पर छात्रों ने पूछा सवाल, मंच पर ही फूट-फूट कर रोने लगे सीएम योगी

लखनऊ में एक कार्यक्रम के दौरान आतंकवाद के मुद्दे पर बोलते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ भावुक हो गए। उन्होंने कहा कि जैसे दीपक बुझने से पहले तेजी से जलता है, उसी तरह से आतंकवाद भी समाप्ति की ओर है।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ फोटो सोर्स- ANI

Pulwama Attack: उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ मन की बात कार्यक्रम के दौरान पुलवामा हमले पर बोलते हुए भावुक हो गए। दरअसल, एक छात्र ने जब उनसे जम्मू-कश्मीर में हो रहे आतंकी हमलों को लेकर सवाल किया तो इसका जवाब देते हुए योगी आदित्यनाथ की आंखों में आंसू आ गए और मंच पर ही रुमाल से अपनी आंख पोछते हुए नजर आए। इस दौरान सीएम योगी ने सवाल का जवाब देते हुए कहा कि आज आपने वह प्रश्न किया जो सच में आज हर आदमी के मन में है। बता दें कि पुलवामा हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हुए थे।

दरअसल, शुक्रवार को लखनऊ में आयोजित ‘युवाओं के मन की बात मुख्यमंत्री के साथ’ कार्यक्रम में यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ पहुंचे थे। यहां उन्हें 11 बजे पहुंचना था लेकिन वह दोपहर 1.30 पर पहुंचे जिसके लिए उन्होंने छात्रों से माफी मांगी। इस दौरान युवाओं से संवाद के क्रम में बीटेक के छात्र आदित्य ने सीएम योगी से पूछा कि आपकी सरकार क्या कर रही है, एक के बाद एक आतंकी घटनाएं हो रही? इसका जवाब देते हुए योगी ने कहा कि जैसे दीपक बुझने से पहले तेजी से जलता है, उसी तरह से आतंकवाद भी समाप्ति की ओर है और आतंकी हताशा में वारदातों को अंजाम दे रहे हैं। इस दौरान बोलते हुए वे भावुक हो गए और उनकी आंखो से आंसू छलक पड़े।

हालांकि कुछ देर में ही सीएम योगी ने खुद को संभालते हुए कहा कि शुक्रवार को ही प्रदेश में एक ऑपरेशन कर पुलवामा कांड से जुड़े आतंकियों को गिरफ्तार किया गया है। इस दौरान महागठबंधन के मुद्दे पर सवाल पूछने पर सीएम योगी ने जवाब दिया कि कुछ लोग देश की कीमत पर राजनीति करते है। आतंकवाद को तुष्टीकरण के नाम पर फलने-फूलने में मदद करते हैं। उन्होंने कहा कि देश में हो रहे गठबंधन अराजकता फैलाने वाले हैं। इसके अलावा राम मंदिर के मुद्दे पर उन्होंने कहा कि ये देश की आस्था से जुड़ा सवाल है। जैसे अक्षयवट के दर्शन सभी के लिए संभव हो सका है वैसे ही राम मंदिर का निर्माण भी जरूर संभव होगा।

गौरतलब है कि 14 फरवरी को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हुए थे। इस हमले की जिम्मेदारी पाकिस्तानी आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने ली थी। इस हमले के बाद देश में लगातार सुरक्षा एजेंसियां सतर्कता बरत रही हैं। इस क्रम में शुक्रवार को यूपी से 12 संदिग्ध आतंकी पकड़े गए थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App