ताज़ा खबर
 

Pulwama Attack: छात्र ने भड़कीला पोस्ट किया LIKE, 30 कश्मीरी छात्रों को पीजी छोड़ने की मिली धमकी

मोहाली के एक गांव में कॉलेज के एक पूर्व छात्र ने पुलवामा हमले से जुड़ा एक भड़कीला पोस्ट सोशल मीडिया पर लाइक किया जिसका हर्जाना कई कश्मीरी स्टूडेंट्स को भुगतना पड़ रहा है।

Author Published on: February 21, 2019 12:38 PM
मोहाली के बल्लोपुर गांव से अपने घरों के लिए निकलते कश्मीरी छात्र, फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

मोहाली में एक प्राइवेट इंजीनियरिंग कॉलेज के करीब 30 कश्मीरी स्टूडेंट्स को उनके पीजी (पेइंग गेस्टहाउस) से कथित तौर पर जाने के लिए कहा गया है। जानकारी के मुताबिक कॉलेज के एक पूर्व छात्र ने पुलवामा अटैक से जुड़ा एक पोस्ट सोशल मीडिया पर लाइक किया था। जिस वक्त लोगों को इस बात की जानकारी मिली उस वक्त वो पूर्व छात्र पीजी में ही मौजूद था। ऐसे में उसकी पिटाई की खबरें भी सामने आ रही हैं।

क्या है पूरा मामला: पूरा मामला मोहाली के बल्लोपुर में रहने वाले कुछ छात्रों से जुड़ा है। जहां जानकारी के मुताबिक सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्ट को देशद्रोह बताते हुए कुछ लोगों ने एक स्टूडेंट की पिटाई कर दी। पिटाई के वक्त वो छात्र पीजी में ही मौजूद था। उसके बाद से ही कुछ और छात्रों ने कहा है कि उन्हें भी धमकी मिल रही है जिसके चलते उन्हें पीजी खाली करने के लिए भी कहा जा रहा है।

पुलिस का क्या है कहना: डेराबस्सी की एसडीएम पूजा सियाल ने चंडीगढ़ न्यूजलाइन को बताया कि कॉलेज के एक पूर्व छात्र ने पुलवामा अटैक से जुड़े एक पोस्ट को लाइक किया था वहीं कुछ जिसके चलते कुछ छात्रों ने विरोध किया। इसके साथ ही पूजा ने कहा कि उन्होंने कॉलेज में भी विजिट किया था और साथ ही उनकी सुरक्षा की भी बात कही थी। इसके साथ ही कुछ छात्रों ने घर जाने की बात कही तो उनके लिए हमने आने जाने की सुविधा मुहैया करवाई। वहीं जो छात्र यहीं रुकना चाहते हैं उनकी सुरक्षा की भी बात कही गई।

छात्रों का क्या है कहना: यूनिवर्सल कॉलेज के सिविल इंजीनियरिंग के छात्र राजा हफिजुल्लाह ने बताया कि कुछ लोगों ने उनके पीजी मालिकों को धमकी दी है कि वो हमसे पीजी खाली करवाएं और अगर ऐसा नहीं हुआ तो वो उनकी पिटाई करेंगे। वहीं कुछ और लोग भी बुधवार को आकर उन्हें धमकी देकर गए और कहा अगर उन्होंने गांव नहीं छोड़ा तो दूसरे तरीके से बाहर निकाला जाएगा। बता दें कि पीजी में करीब 25-30 कश्मीरी छात्र रहते हैं। वहीं सुरक्षित महसूस न होने के चलते छात्रों ने गांव छोड़ने की बात कही है।

पीजी मालिक का क्या है कहना: इस पूरे मामले पर पीजी मालिक बलबीर सिंह ने चंड़ीगढ़ न्यूजलाइन से कहा कि वो यहां करीब दो साल से रह रहे हैं लेकिन मंगलवार दोपहर को कुछ गांववाले आए और इन सभी को बाहर निकालने की बात कही। वहीं हमने लालरु पुलिस से भी बात की है और कहा है कि किसी को भी कानून हाथ में नहीं लेना चाहिए। जल्दी ही इस मामले को सुलझा लिया जाएगा। बता दें कि बलवीर सिंह एक पूर्व सैनिक हैं।

सरपंच के पति का क्या है कहना: गांव की सरपंच कमलेश कौर के पति गियान सिंह ने बताया कि बलबीर ने इस मामले की जानकारी बुधवार सुबह दी थी जिसके बाद पुलिस को भी बताया गया है। इसके साथ ही गियान ने कश्मीरी छात्रों को लालरू पुलिस स्टेशन का नंबर भी दिया है।

लालरू स्टेशन की पुलिस का क्या है कहना: एसएचओ इंस्पेक्टर गुरचरण सिंह का कहना है कि उनको इस मामले की जानकारी मिली है कि एक पूर्व छात्र ने सोशल मीडिया पर भड़काऊ पोस्ट को लाइक किया है। जिसका कुछ दूसरे छात्रों ने विरोध किया है और मुद्दा बढ़ गया है। लेकिन हम मामले की जांच कर रहे हैं साथ ही ये भी पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं कि ये काम किसने किया है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 कांग्रेस का भाजपा पर वार, कहा- देश मना रहा था शहीद जवानों का शोक, फिल्म की शूटिंग कर रहे थे पीएम मोदी
2 पाकिस्तानी युवक पत्नी से चाहता था छुटकारा, भारतीय सीमा में ढकेला, बीएसएफ ने मारी गोली
3 Pulwama Attack: कॉन्स्टेबल फिरोज शहर में घूम- घूम कर शहीदों के परिवारों के लिए जमा कर रहे चंदा