पुदुचेरी में एटीएम से मिलेगा मां का दूध

जवाहर इंस्टिट्यूट ऑफ पोस्टग्रेजुएट मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च ने तैयार किया ह्यूमन मिल्क बैंक, प्रीमेच्योर बच्चों की बचाएंगे जान।

unclear milk, milk toxic, milk in india, milk production, milkचित्र का इस्तेमाल सिर्फ प्रतीक के तौर पर किया गया है।

पुदुचेरीः जवाहर इंस्टिट्यूट ऑफ पोस्टग्रेजुएट मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च (Jipmer) ने एक ह्यूमन मिल्क बैंक तैयार किया है। हॉस्पिटल में होने वाले प्रीमेच्योर बच्चों के लिए इसके दूध का इस्तेमाल किया जाएगा। इस बैंक का नाम Amudham Thaippal Maiyam (ATM) रखा गया है। पिछले बुधवार को शुरू हुए इस एटीएम पर दूध मिलने के साथ ही महिलाओं को ब्रेस्टफीडिंग से जुड़ी सलाह भी दी जाएगी।

साल 2019 तक किसानों को मिलेगा मौसम का सही अनुमान

Jipmer के डायरेक्टर एस. सी. परिजा ने बताया, “यहां हर महीने करीब 1500 बच्चों का जन्म होता है, जिसमें से 30 प्रतिशत कमजोर और प्रीमेच्योर होते हैं। इन बच्चों की जान बचाने के लिए ऐसे एक ह्यूमन ब्रेस्ट मिल्क (मां का दूध) बैंक बनाने की जरूरत थी।”

अब मिलेगा दलित फूड, लॉन्‍च करने वाले चंद्रभान बोले-बाबा रामदेव की तो गोबर की आइसक्रीम भी बिक जाएगी

उन्होंने बताया कि इस तरह के और भी बैंक NICU (नवजात शिशु संबंधी केयर यूनिट) में स्थापित करने की आवश्यकता है, ताकि कम वजन वाले और समय से पहले पैदा हुए इन बच्चों को छह महीने का होने तक दूध पिलाया जा सके। उन्होंने कहा कि “यदि मां का दूध पूरा नहीं पड़ रहा या फिर उपलब्ध नहीं है तो डोनर ह्यूमन मिल्क का पाश्च्यूराइज्ड दूध उपयोग किया जाए।”

Next Stories
1 पुडुचेरी विस चुनाव में इस बार रंगासामी की राह आसान नहीं
2 पुडुचेरी विस चुनाव: एआइएनआरसी ने नहीं की चुनावी रणनीति की घोषणा
यह पढ़ा क्या?
X