Puducherry announces 3-day state mourning - Jansatta
ताज़ा खबर
 

जयललिता के निधन पर पुडुचेरी मेें तीन दिन के राजकीय शोक की घोषणा

पुडुचेरी सरकार ने तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जे जयललिता के निधन के बाद आज से तीन दिन के राजकीय शोक की घोषणा की है।

Author पुडुचेरी | December 6, 2016 1:37 PM
जयललिता के देहांत के बाद तीन दिन के लिए राज्य के सारे स्कूलों को बंद रखा गया है। (Photo: ANI)

पुडुचेरी सरकार ने तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जे जयललिता के निधन के बाद आज से तीन दिन के राजकीय शोक की घोषणा की है।
मुख्यमंत्री वी नारायणसामी ने इसकी घोषणा करते समय तमिलनाडु के लिए किए गए जयललिता के विभिन्न योगदानों को भी याद किया।
नारायणसामी के नेतृत्व में यहां विधानसभा परिसर में दिवंगत नेता की एक तस्वीर के समक्ष श्रद्धांजलि अर्पित की गई। अन्य मंत्रियों और विधायकों ने भी दिवंगत मुख्यमंत्री को श्रद्धांजलि दी। पुडुचेरी प्रदेश कांग्रेस समिति :पुडुचेरी पीसीसी: के कार्यालय में एक शोकसभा आयोजित की गई।

पीडब्ल्यूडी मंत्री और पीसीसी नेता ए नामासिवायम ने इस सभा की अध्यक्षता की। मुख्यमंत्री नारायणसामी, उनके मंत्रिमंडलीय सहयोगियों और विधायकों ने दिवंगत नेता को श्रद्धांजलि अर्पित की। पुडुचेरी विधानसभा के अध्यक्ष वी वैथिलिंगम ने कहा कि जयललिता ने अपने लक्ष्य और दृष्टिकोण को लेकर बिना रूके काम किया और हर क्षेत्र के लोगों से प्रशंसा हासिल की। पुडुचेरी में आज दिवंगत नेता के सम्मान में सभी स्कूल, कॉलेज और सरकारी कार्यालय बंद हैं।

जे जयललिता के निधन के बाद चेन्नई में जनजीवन की रफ्तार धीमी पड़ती दिख रही है। सुबह से शहर की सड़कें वीरान रहीं और भोजनालयों सहित दुकानें भी बंद रहीं। आॅटोरिक्शा सहित सार्वजनिक परिवहन सेवा सड़कों से नदारद रहीं, जबकि कुछ निजी वाहनों को शहर के विभिन्न हिस्सों में चलते देखा गया। पुलिसकर्मी महत्वपूर्ण स्थलों पर कड़ी निगरानी बरत रहे हैं। बीती शाम से शहर में और राज्य के अन्य कई हिस्सों में करीब करीब पूर्णत: बंद जैसी स्थिति है। आज सबका ध्यान ‘राजाजी हॉल’ पर केंद्रित है, जहां दिवंगत मुख्यमंत्री का पार्थिव शरीर रखा गया है ताकि लोग अपनी नेता के अंतिम दर्शन कर सकें।

जयललिता से जुड़ी पूरी कवरेज के लिए यहां क्लिक करें:

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App