ताज़ा खबर
 

पाकिस्तान के PM इमरान खान की पार्टी ने हिंदी में किया ट्वीट, हुए TROLL, यूजर बोले- अच्छे दिन आ गए

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ़ ने हिंदी में एक ट्वीट किया। ये ट्वीट सोशल मीडिया पर ट्रोल हो गया है। ऐसे में कोई यूजर इसे पीएम मोदी के अच्छे दिन बता रहा है तो कोई कह रहा है कि ट्रांसलेशन के पैसे कहां से आएंगे।

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान, फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) ने उनकी तरफ से एक ट्वीट किया। यह ट्वीट हिंदी में किया गया, जबकि उसके अन्य ट्वीट उर्दू में होते हैं। ऐसे में इस हिंदी ट्वीट का सोशल मीडिया पर जमकर मजाक उड़ाया जा रहा है। दिल्ली में आप आदमी पार्टी के नेता कुमार विश्वास ने भी पाकिस्तान का उड़ाया। साथ ही, रिट्वीट करते हुए लिखा – भारत ने ‘हिंदी’ कर दी इनकी।

पीटीआई ने यह लिखा ट्वीट में : सोमवार दोपहर (4 मार्च) को किए गए हिंदी ट्वीट में इमरान खान के हवाले से लिखा गया है, ‘‘मैं नोबेल शांति पुरस्कार के योग्य नहीं हूं। इस योग्य व्यक्ति वह होगा, जो कश्मीरी लोगों की इच्छा के अनुसार कश्मीर विवाद का समाधान करता है और उपमहाद्वीप में शांति और मानव विकास का मार्ग प्रशस्त करता है। बता दें कि हाल ही में पाकिस्तान में पीएम इमरान खान को नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किए जाने की मांग उठ रही है। अनुमान है कि इसी वजह से यह ट्वीट किया गया है।

ट्वीट का उड़ाया जा रहा है जमकर मजाक: सोशल मीडिया पर इस ट्वीट का जमकर मजाक उड़ाया जा रहा है। ऐसे में कोई इसे अच्छे दिन बता रहा है तो कोई इसे चंकी पांडे से जोड़ रहा है। वहीं, कोई ट्वीट और कोई रिट्वीट करके पूछ रहा है कि इस ट्वीट के ट्रांसलेशन के लिए पैसे कहां से आएंगे।

 

भारत पर प्रभाव हो सकती है वजह: पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ़ की तरफ से यह ट्वीट हिंदी में क्यों किया गया है इसका कोई स्पष्ट कारण तो नहीं है लेकिन ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं कि भारत पर प्रभाव जताने के लिए यह ट्वीट हिंदी में किया गया है।

 

पाकिस्तान के इस मंत्री ने किया था नोबेल के लिए नाम प्रस्तावित: बता दें कि 28 फरवरी को इमरान खान ने ऐलान किया था कि वे भारतीय वायुसेना के विंग कमांडर अभिनंदन को रिहा करेंगे। उन्होंने इसे शांति की दिशा में उठाया गया कदम बताया था। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इसके बाद पाकिस्तान के सूचना एवं प्रसारण मंत्री फवाद ने कहा था कि शांति की दिशा में योगदान के लिए पीएम इमरान का नाम नोबेल शांति पुरस्कार के लिए प्रस्तावित किया जाना चाहिए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App