ताज़ा खबर
 

अधिकारियों संग पीएम मोदी की बैठक का लाइव ब्रॉडकास्ट, सिसोदिया बोले- अरविंद केजरीवाल पर क्यों भड़के थे?

उप मुख्‍यमंत्री ने ट्वीट कर लिखा, 'आज की मीटिंग में प्रधानमंत्री जी का वक्तव्य टीवी पर लाइव प्रसारित हुआ। पिछली बैठक में सीएम अरविंद केजरीवाल के लाइव प्रसारण पर आपत्ति थी कि प्रोटोकॉल तोड़ा गया, आज के प्रोटोकॉल में इसकी इजाज़त थी? कैसे पता चले कि कौन सी बैठक से लाइव प्रसारण हो सकता है, कौन सी में नहीं?'

सिसौदिया बोले- केंद्र ने वैक्सीन तो दीं नहीं, पर फऱमान देकर कहा- “थैंक यू मोदी जी” का विज्ञापन जारी करें सूबे (express file photo)

देश में कोरोना का प्रकोप तेजी से फैल रहा है। इसको लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 8 राज्यों के 46 डीएम के साथ एक बैठक की। इस मीटिंग में पीएम द्वारा दिये गए बयान का टीवी पर लाइव प्रसारण किए गया। इसको लेकर दिल्ली के उप मुख्‍यमंत्री मनीष सिसोदिया नेआपत्ति जताई है।

सिसोदिया ने एक ट्वीट कर पूछा कि पीएम के बयान का लाइव ब्रॉडकास्ट क्यों किया गया। दिल्ली के उप मुख्‍यमंत्री ने ट्वीट कर लिखा, ‘आज की मीटिंग में प्रधानमंत्री जी का वक्तव्य टीवी पर लाइव प्रसारित हुआ। पिछली बैठक में सीएम अरविंद केजरीवाल के लाइव प्रसारण पर आपत्ति थी कि प्रोटोकॉल तोड़ा गया, आज के प्रोटोकॉल में इसकी इजाज़त थी? कैसे पता चले कि कौन सी बैठक से लाइव प्रसारण हो सकता है, कौन सी में नहीं?’

पिछले महीने 23 अप्रैल को कोरोना की दूसरी लहर के बीच प्रधानमंत्री मोदी ने कोरोना संक्रमण से सबसे ज्‍यादा प्रभावित 10 राज्‍यों के मुख्‍यमंत्रियों से मुलाकात की थी। तब दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मीटिंग में अपनी बातों का लाइव प्रसारण किया था। जिसके बाद प्रधानमंत्री नाराज़ हो गए थे।

पीएम मोदी ने इसीका विरोध करते हुए कहा था कि यह हमारे प्रोटोकॉल के खिलाफ है। पीएम ने कहा था कि कोई मुख्यमंत्री किसी इन-हाउस मीटिंग का लाइव टेलीकास्ट नहीं कर सकते हैं। केंद्र सरकार ने भी दिल्ली के मुख्यमंत्री पर राजनीति करने और झूठ फैलाने का आरोप लगाया था। सरकार से जुड़े सूत्रों ने बताया कि सीएम केजरीवाल ने पीएम-सीएम मीट को ‘राजनीतिक उद्देश्‍य’ से इस्‍तेमाल किया है।

हालांकि अरविंद केजरीवाल ने बाद में इसके लिए माफ़ी भी मांगी थी। इस बैठक के दौरान केजरीवाल ने पीएम मोदी से पूछा था कि अगर दिल्‍ली के लिए आ रहे ऑक्‍सीजन टैंकर को कोई राज्य रोक ले तो केंद्र सरकार में उन्हें किनसे बात करनी चाहिए?

Next Stories
1 कोरोना के खिलाफ लड़ाई में जिनकी हुई थी तारीफ़, केरल की नई सरकार में कैबिनेट से बाहर हो सकती हैं केके शैलजा
2 कोरोना से गोवा पस्त! बोली सावंत सरकार- ठीक हैं हालात; पर अस्पतालों में जमीन पर मरीज
3 नारद स्टिंग केसः जेल में कटी ममता के दो मंत्रियों की रात, मित्रा बोले- मुकुल-शुभेंदु को छोड़ हम सब बुरे हैं
यह पढ़ा क्या?
X