ताज़ा खबर
 

इटावा की जेल में कैदियों के जुआ खेलने का वीडियो हुआ वायरल

इटावा के जिलाधिकारी जितेंद्र बहादुर सिंह ने गुरुवार कहा कि हर महीने जेल के भीतर प्रशासनिक अधिकारियों की टीम सघन निरीक्षण करती है, ऐसे में उन्हें नहीं लगता है कि जेल परिसर के भीतर जुआ खेलने जैसा कोई वाकया घटित हो सकता है।

Author इटावा | July 12, 2019 12:30 AM
प्रतीकात्मक तस्वीर

उत्तर प्रदेश की इटावा जिला जेल में कैदियों के सवा तीन मिनट के वायरल हुए वीडियो में कैदी जुआ खेलते नजर आ रहे हैं? जेल अधीक्षक ने इस वीडियो की सचाई पर सवाल खड़े करते हुए साजिश का संदेह जताया, वहीं जिलाधिकारी ने इसकी तह तक पहुंचने की बात कही। वायरल वीडियो के बारे में अभी यह स्पष्ट नहीं है कि इसको किसी जेलकर्मी ने बनाया है, किसी कैदी ने बनाया है या किसी अन्य ने। लेकिन इस वीडियो ने इस बात की तस्दीक कर दी कि जुआ जेल परिसर में ही खेला जा रहा है।

इटावा के जिलाधिकारी जितेंद्र बहादुर सिंह ने गुरुवार कहा कि हर महीने जेल के भीतर प्रशासनिक अधिकारियों की टीम सघन निरीक्षण करती है, ऐसे में उन्हें नहीं लगता है कि जेल परिसर के भीतर जुआ खेलने जैसा कोई वाकया घटित हो सकता है। उन्होंने कहा कि बावजूद इसके वीडियो की तह तक पहुंचा जाएगा। इसके ठीक विपरीत जेल अधीक्षक राज किशोर सिंह का कहना है कि मौजूदा समय ऐसा कोई काम जेल में नहीं हो रहा है, वायरल वीडियो पुराना हो सकता है या फिर किसी की साजिश भी हो सकती है।

जो वीडियो वायरल हुआ है उसमें कैदियों का एक झुंड ताश खेलते नजर आ रहा है। ताश के खेल में पैसे का भी इस्तेमाल हो रहा है, यानी जुआ खेला जा रहा है। कैदियों का जुआ खेलना चोरी छुपे नहीं बल्कि जेल प्रशासन की शह पर हो रहा है। वीडियो में खाकी वर्दी पहने पुलिसवाला जुआ खेलने वालों से पैसों की वसूली भी कर रहा है। एक तरह से जुआ जेल प्रशासन की जानकारी में खेला जाता नजर आ रहा है।

इससे पहले छह जुलाई को जेल की दीवार फांदकर दो कैदी फरार हो गए थे। इस घटना से कठघरे में खड़ा जेल प्रशासन अभी उबर भी नहीं पाया था कि वायरल वीडियो ने एक बार फिर मुसीबतें बढ़ा दी हैं। जेल अधिकारी भी सफाई देते नजर आ रहे हैं। इटावा जेल से 7 जुलाई को तड़के करीब 3 बजे इटावा ज़िला जेल में हत्या के आरोप में आजीवन सज़ा काट रहे दो कैदी जेल प्रशासन की सुरक्षा व्यवस्था को धता बताते हुए जेल से फरार हो गए थे। उनमें से एक कैदी की ट्रेन से कट कर मौत हो गई थी।

संगम एक्सप्रेस से कट कर मरे उम्रकैद की सजा पाए कैदी रामानंद जाटव इटावा के बहुचर्चित अमीनाबाद कांड का आरोपी था। अमीनाबादकांड में रामानंद ने चंबल के खूंखार डाकुओं की मदद से पांच दलितों की गोलियो से भून कर हत्या कर दी थी। जेल से फरार होने के बाद रामानंद ने इस वारदात को अंजाम दिया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App