ताज़ा खबर
 

नरेंद्र मोदी के गोद लिए गांव में अंधेरा, सोलर लाइट की बैटरी चुरा ले गए चोर

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नवंबर 2014 में जयापुर गांव को गोद लि‍या था। यह गांव उनके संसदीय क्षेत्र वाराणसी के अंतर्गत आता है। चोरों ने 135 में से 80 सोलर स्‍ट्रीट लाइटों की बैटरि‍यां चुरा ली हैं।
Author नई दिल्‍ली | January 17, 2018 18:35 pm
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नवंबर 2014 में जयापुर गांव को गोद लि‍या था। (फाइल फोटो)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के गोद लिए जयापुर गांव में पि‍छले कई महीनों से अंधेरा पसरा हुआ है। चोरों ने सोलर लाइट के लि‍ए लगाई गई बैटरी ही चुरा ली। पुलि‍स में इसकी शि‍कायत दी गई थी, लेकि‍न इसका कोई फायदा नहीं हुआ। अपर पुलि‍स महानि‍देशक (एडीजी) वि‍श्‍वजीत महापात्रा द्वारा गांव का दौरा करने के बाद स्‍थानीय पुलि‍स हरकत में आई है। पीएम मोदी द्वारा नवंबर 2014 में गोद लेने के बाद उत्‍तर प्रदेश का जयापुर गांव सुर्खि‍यों में आया था। सरकारी बैंक और नि‍जी कंपनि‍यों ने गांव में सोलर लाइटें लगवाई थीं। एक साल से गांव में लगी ऐसी 135 स्‍ट्रीट लाइटों में से 80 खराब हैं। इनमें लगी बैटरी चोरी हो गई हैं। गांव के प्रधान श्रीनारायण पटेल ने बताया कि‍ उन्‍होंने जयापुर पुलि‍स चौकी के साथ ही रोहनि‍या थाने में भी इसकी शि‍कायत दी थी, लेकि‍न इस पर कोई कार्रवाई नहीं हुई।

जयापुर गांव प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी के अंतर्गत आता है। पीएम द्वारा गोद लि‍ए जाने के बाद गांव में 2015 में स्‍ट्रीट लाइटें लगवाई गई थीं। श्रीनारायण पटेल ने बताया कि‍ तकरीबन एक साल पहले 50 बैटरि‍यां चोरी हो गई थीं, जि‍सकी पुलि‍स में शि‍कायत दी गई थी। इस पर अमल भी नहीं हुआ था कि चोर 30 बैटरि‍यां और चुरा ले गए। पुलि‍स में इसकी शि‍कायत भी दी गई थी। इस बीच, नई बैटरी भी नहीं लगाई गई। हि‍न्‍दुस्‍तान टाइम्‍स की रि‍पोर्ट के अनुसार, एडीजी महापात्रा सोमवार (15 जनवरी) को जयापुर आए थे। उन्‍हें इसकी जानकारी दी गई थी। पटेल ने उन्‍हें बताया था कि‍ बैटरी चोरी की एफआईआर दर्ज कराने के बाद अभी तक इस मामले में कोई कार्रवाई नहीं हुई है। एडीजी ने स्‍थानीय पुलि‍स को चोरों को पकड़ने के साथ ही गांव में गश्‍ती बढ़ाने को कहा।

जयापुर चौकी के प्रभारी ने बैटरी चोरी होने की रि‍पोर्ट दर्ज होने की पुष्‍टि‍ की है। हालांकि‍, उन्‍होंने बताया कि‍ शि‍कायत दर्ज कराने के वक्‍त वह यहां तैनात नहीं थे। उन्‍होंने इस मामले को जल्‍द से जल्‍द सुलझाने की भी बात कही है। महापात्रा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा गोद लि‍ए गए दूसरे गांव नागेपुर का भी दौर कि‍या था। मालूम हो कि‍ पीएम मोदी ने सभी सांसदों को अपने संसदीय क्षेत्र में कम से कम एक गांव को गोद लेकर उसका वि‍कास कराने को कहा था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.