ताज़ा खबर
 

चार-चार हजार रुपए बकाया रखे हुए हैं पत्रकार, प्रेस क्लब ऑफ इंडिया ने सभी सदस्यों को भेजी 315 ‘डिफॉल्‍टरों’ की लिस्ट

पीसीआई ने क्लब के सभी सदस्यों को ईमेल भेजकर बकाया पैसे देने की अपील की है। ज्यादातर पत्रकारों पर पीसीआई की सालाना सदस्यता शुल्क बकाया है। कुछ पर खाने-पीने से जुड़े पैसे भी बाकी हैं।

प्रेस क्लब ऑफ इंडिया दिल्ली में कई जाने माने पत्रकार सदस्य हैं।

भारतीय संसद और राष्ट्रपति भवन से चंद मिनट की दूरी पर स्थित प्रेस क्लब ऑफ इंडिया (पीसीआई) का पता 1 रायसीना रोड ही उसके रसूख का पता देने के लिए काफी है। लेकिन देश के इस सबसे पुराने और प्रतिष्ठित प्रेस क्लब को भी सदस्यों से बकाया वसूलने के लिए संघर्ष करना पड़ रहा है। पीसीआई ने क्लब के सभी सदस्यों को ईमेल भेजकर बकाया पैसे देने की अपील की है। ज्यादातर पत्रकारों पर पीसीआई की सालाना सदस्यता शुल्क बकाया है। कुछ पर खाने-पीने से जुड़े पैसे भी बाकी हैं। कुछ पत्रकारों ने पांच-पांच साल से सदस्यता शुल्क नहीं दिया है। इस सूची में 300 से ज्यादा नाम हैं जिनमें देश के कई जानेमाने मीडियाकर्मी भी हैं। पीसीआई ने बाकी सदस्यों से अपील की है कि अगर वो किसी बकायेदार को निजी रूप से जानते हैं तो उन्हें बकाया पैसे देने के लिए “प्रेरित” करें।

ऐसा नहीं है कि पीसीआई ने पहली बार बकायेदार पत्रकारों की लिस्ट जारी की है लेकिन लगता है इस बार क्लब के सब्र का बांध टूटन के कगार पर है। पीसीआई की तरफ से सदस्यों को भेजे ईमेल में कहा गया है, “करीब 300 सदस्यों ने कई पत्र और फोन कॉल के बावजूद अपनी बकाया राशि नहीं दी है। हम नए वित्त वर्ष में प्रवेश कर चुके हैं और ये बकाया राशि पीसीआई के संसाधनों पर बड़ा बोझ साबित हो रही है। हम एक बार फिर अपने सभी सदस्यों से अपना बकाया चुकाने की अपील करते हैं। पैसे न देने वाले डिफाल्टर की लिस्ट ईमेल में अटैच है। अगर आप इसमें से किसी को जानते हैं तो उन्हें बकाया चुकाने के लिए “प्रेरित” करें। पिछले सालों के सदस्यता शुल्क चुकाने की आखिरी तारीख 15 अप्रैल 2017 है। ”

बकायेदारों से तंग आकर प्रेस क्लब ने वार्षिक सदस्यता शुल्क देने के नियम भी कड़े कर दिए हैं। प्रेस क्लब ने सभी सदस्यों को सूचित किया है कि अब वार्षिक सदस्यता शुल्क अप्रैल में ही देना होगा। जो सदस्य अप्रैल में वार्षिक सदस्यता शुल्क नहीं चुकाएंगे उन्हें क्लब की सुविधाओं का लाभ नहीं मिलेगा। प्रेस क्लब की स्थापना 20 दिसंबर 1957 को हुई थी। 10 मार्च 1958 को ये एक कंपनी के तौर पर पंजीकृत हुआ। इसके पहले अध्यक्ष वरिष्ठ पत्रकार दुर्गा दास थे। दास को इस क्लब की स्थापना की प्रेरणा लंदन प्रेस क्लब से मिली थी। अपने मौजूदा पते पर प्रेस क्लब दो फरवरी 1959 को पहुंचा था। तत्कालीन गृह मंत्री जीबी पंत ने तब इसका अनावरण किया था।

PCI Decaulter List 2 प्रेस क्लब ऑफ इंडिया के बकायेदार पत्रकारों की लिस्ट का स्क्रीन शॉट। PCI Defaulter List 1 प्रेस क्लब ऑफ इंडिया के बकायेदारों की लिस्ट का स्क्रीनशॉट।

इस लिंक पर क्लिक कर के आप बकायेदारों की पूरी लिस्ट देख सकते हैं

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App