ताज़ा खबर
 

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने किए भगवान अत्तिवरदर के दर्शन, 40 साल में एक बार निकलते हैं सरोवर से बाहर

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद सपरिवार भगवान अत्तिवरदर के दर्शन करने पहुंचे। इस दौरान राष्ट्रपति के दौरे को देखते हुए नगर में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए थे।

Author कांचीपुरम | July 13, 2019 9:49 AM
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद फोटो सोर्स- जनसत्ता

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भगवान अत्तिवरदर के दर्शन किए जिन्हें 40 साल में एक बार मंदिर के सरोवर से बाहर निकाला जाता है। राष्ट्रपति और उनके परिवार का मंदिर के रीति-रिवाजों के अनुरूप स्वागत किया। चेन्नई में आगमन के बाद वह हेलीकॉप्टर से यहां पहुंचे। तमिलनाडु के राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित कोविंद के साथ उपस्थित थे। राष्ट्रपति के दौरे को देखते हुए नगर में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए थे।

दर्शन को पहुंचते हैं लाखों लोगः भगवान अत्तिवरदर को 40 साल में एक बार मंदिर पुष्करणी (सरोवर) से बाहर लाया जाता है जिसे श्रद्धालुओं के लिए एक बड़ा अवसर माना जाता है और लाखों लोग उनके दर्शन को पहुंचते हैं। भगवान की यह प्रतिमा अंजीर की लकड़ी से बनी है जिसे तमिल में ‘अत्ति’ कहा जाता है। पुष्करणी से इन्हें 27 जून को निकाला गया और उस दिन से 48 दिन के लिए खुल गए हैं।

National Hindi News 13 July 2019 LIVE Updates: दिन भर की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

प्रशासन ने किए विशेष प्रबंधः बता देें कि  भगवान अत्तिवरदर के दर्शन के लिए लाखों श्रद्धालु कांचीपुरम पहुंचे हैं और राज्य सरकार एवं स्थानीय प्रशासन ने इसके लिए विशेष प्रबंध किए हैं। तमिलनाडु और आंध्र प्रदेश के 12 से 15 जुलाई के अपने दौरे के दौरान राष्ट्रपति शनिवार (13 जुलाई) को चेन्नई में आधिकारिक कार्यक्रम में शामिल होंगे। वह आंध्र प्रदेश के तिरुमला-तिरुपति में भगवान वेंकटेश्वर के मंदिर के भी रविवार को दर्शन करेंगे। बाद में कोविंद भारत के चंद्र मिशन ‘चंद्रयान दो’ के 15 जुलाई ( सोमवार) के प्रक्षेपण के लिए श्रीहरिकोटा के लिए रवाना होंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App