ताज़ा खबर
 

राजेंद्र प्रसाद के बाद कुंभ पहुंचने वाले दूसरे राष्ट्रपति बने रामनाथ कोविंद, 66 साल बाद हुआ ऐसा

आज (गुरुवार) दुनिया के सबसे बड़े आध्यात्मिक मेले कुंभ में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद परिवार सहित प्रयागराज पहुंचे। यहां उन्होंने संगम तट पर पूजा पाठ की और साथ ही गंगा आरती कर विश्व कल्याण की कामना की।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, फोटो सोर्स- ट्विटर (@rashtrapatibhvn)

आज (गुरुवार) दुनिया के सबसे बड़े आध्यात्मिक मेले कुंभ में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद परिवार सहित प्रयागराज पहुंचे। यहां उन्होंने संगम तट पर पूजा पाठ की और साथ ही गंगा आरती कर विश्व कल्याण की कामना की। बता दें कि तत्कालीन राष्ट्रपति राजेन्द्र प्रसाद के बाद कुंभ पहुंचने वाले दूसरे राष्ट्रपति हैं रामनाथ कोविंद। इससे पहले 1953 यानी 66 साल पहले तत्कालीन राष्ट्रपति राजेन्द्र प्रसाद कुंभ पहुंचे थे। गौरतलब है कि राष्ट्रपति कोविंद के साथ प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी साथ थे।

महर्षि भारद्वाज की प्रतिमा का किया अनावरण: प्रयागराज पहुंचे राष्ट्रपति कोविंद ने साधु संतो से आशीर्वाद लिया और उसके बाद संगम नोज से ही महर्षि भारद्वाज की प्रतिमा का बटन दबाकर अनावरण किया। वहीं हरिजन सेवक संघ द्वारा महात्मा गांधी पर बुलाई गोष्ठी में भी शामिल हुए।

450 साल बाद हुए अक्षयवट के दर्शन: राष्ट्रपति कोविंद के साथ भी कुंभ पहुंचे। इस दौरान योगी ने कहा कि 450 साल बाद अक्षयवट और सरस्वती कूप के दर्शन हुए। यह आजादी के बाद का पहला कुंभ है, जब गंगा के प्रवाह में कोई रूकावट नहीं हो रही है। गंगा में पानी की कोई कमी नहीं है। उन्होंने इसके लिए स्वामी अच्युतानंद का आभार जताया। गंगा में गिरने वाले सभी नालों को बंद किया गया है। हमने इसके लिए बायो रेमिडेशन पद्धति अपनाई।

राष्ट्रपति कोविंद की पत्नी ने बांटी साड़ियां: बता दें कि राष्ट्रपति कोविंद सुबह करीब 9.30 बजे एयरपोर्ट पहुंचे। जहां उनका स्वागत सीएम योगी और राज्यपाल राम नाईक ने किया। प्रयागराज में राष्ट्रपति कोविंद की पत्नी महिलाओं को साड़ी बांटी। इसके साथ ही उन्होंने परिवार सहित परमार्थ आश्रम में पूजा की।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 स्कूल में छात्र नहीं इस्तेमाल कर पाएंगे मोबाइल, बच्चों संग टीचर की अटेंडेंस पर नजर रखेगी औचक निरीक्षण टीम
2 पत्रकार हत्याकांड: इतनी थी राम रहीम की पावर कि 28 दिन जिंदा रहे छत्रपति, लेकिन नहीं हुए बयान
3 पत्रकार हत्याकांड : एक ड्राइवर की जिद ने पूरा डेरा डुबो दिया…
ये पढ़ा क्या?
X