बिहार कांग्रेस में बड़े फेरबदल की तैयारी, दलित चेहरे को दी जा सकती है पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष की जिम्मेदारी, कई नेताओं ने दर्ज कराई नाराजगी

Reshuffle in Bihar Congress: सूत्रों का कहना है कि कांग्रेस दलित समुदाय से आने वाले अपने विधायक राजेश राम को प्रदेश इकाई का नया अध्यक्ष नियुक्त कर सकती है। उनके साथ सात-आठ कार्यकारी अध्यक्ष भी बना सकती है।

Sonia Gandhi Rahul Gandhi Bihar Congress
बिहार कांग्रेस अध्यक्ष पर अंतिम फैसला सोनिया गांधी और राहुल गांधी लेंगे। File/Indian Express

Reshuffle in Bihar Congress: कांग्रेस अपनी बिहार इकाई की कमान किसी दलित चेहरे को सौंपने की तैयारी में है और इसमें विधायक राजेश राम का नाम सबसे आगे माना जा रहा है, हालांकि प्रदेश कांग्रेस कमेटी (Bihar Congress Committee) के कई सीनियर नेताओं ने इस पर ऐतराज जताते हुए कहा है कि प्रदेश अध्यक्ष (Bihar Congress Chief) के चयन में सिर्फ जाति नहीं, बल्कि संगठन और नेतृत्व की क्षमता के साथ साथ वोट बैंक के मुख्य आधार को महत्व दिया जाना चाहिए।

सूत्रों का कहना है कि कांग्रेस दलित समुदाय से आने वाले अपने विधायक राजेश राम को प्रदेश इकाई का नया अध्यक्ष नियुक्त कर सकती है। उनके साथ सात-आठ कार्यकारी अध्यक्ष भी बना सकती है। गौरतलब है कि पिछले साल बिहार विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के निराशाजनक प्रदर्शन के बाद मदन मोहन झा ने बिहार प्रदेश कांग्रेस कमेटी (Bihar Congress Committee) के अध्यक्ष पद से इस्तीफे की पेशकश की थी। पार्टी उस चुनाव में राजद और वाम दलों के साथ गठबंधन में 70 विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ी थी, लेकिन उसे सिर्फ 19 सीटों पर जीत मिली थी।

कांग्रेस सूत्रों का कहना है कि पार्टी के प्रदेश प्रभारी भक्त चरण दास औरंगाबाद जिले की कुटुम्बा विधानसभा सीट से विधायक राजेश राम को बिहार प्रदेश कांग्रेस की कमान सौंपने के पक्ष में हैं और जल्द ही इसकी आधिकारिक घोषणा हो सकती है।

पार्टी के एक वरिष्ठ नेता ने समाचार एजेंसी को बताया कि राजेश राम के नाम पर लगभग सहमति बन गई है। हालांकि, इस पर आखिरी फैसला सोनिया गांधी और राहुल गांधी को करना है। उन्होंने कहा, “यदि दलित नेता को अध्यक्ष बनाया जाता है तो कार्यकारी अध्यक्ष के तौर पर सवर्ण, पिछड़े, अति पिछड़े और अल्पसंख्यक समुदाय के नेताओं को प्रतिनिधित्व दिया जाएगा। कुल मिलाकर सभी वर्गों एवं क्षेत्रों को साथ लेकर चलने का प्रयास होगा।”

सूत्रों के अनुसार, कार्यकारी अध्यक्ष की दौड़ में प्रवीण कुशवाहा, कुमार आशीष, चंदन यादव और कई अन्य नेता शामिल माने जा रहे हैं। कांग्रेस की बिहार इकाई (Bihar Congress Committee) में कई ऐसे नेता भी हैं जो राजेश राम को अध्यक्ष की जिम्मेदारी सौंपे जाने के पक्ष में नहीं हैं, हालांकि वे खुलकर बोलने को तैयार नहीं हैं। उनका कहना है कि हाल के दशकों में ब्राह्मण और सवर्ण साथ ही अल्पसंख्यक ही बिहार में कांग्रेस के वोटबैंक का मुख्य आधार रहे हैं और पार्टी को फैसले करते समय इस बात को ध्यान में रखना चाहिए।

प्रदेश कांग्रेस कमेटी में महत्वपूर्ण जिम्मेदारी निभा चुके एक नेता ने समाचार एजेंसी से बातचीत में कहा कि मेरा मानना है कि कोई भी फैसला वरिष्ठ नेताओं के साथ विचार-विमर्श करके होना चाहिए। प्रदेश अध्यक्ष के लिए सिर्फ जाति मापदंड नहीं होना चाहिए। यह जरूरी है कि प्रदेश अध्यक्ष बनने वाले व्यक्ति में संगठन और नेतृत्व की क्षमता हो और वह बिहार के जातीय-क्षेत्रीय संतुलन को समझता हो।”

उन्होंने जोर देकर कहा कि मुझे विश्वास है कि सोनिया गांधी और राहुल गांधी सिर्फ जाति के आधार पर नहीं, बल्कि पार्टी के हित को ध्यान में रखकर निर्णय करेंगे। कांग्रेस के एक अन्य वरिष्ठ नेता ने कहा, “पार्टी नेतृत्व तय करेगा कि कौन अध्यक्ष होगा, लेकिन हमें उम्मीद है कि नया अध्यक्ष तय करने में सिर्फ जाति को ध्यान में नहीं रखा जाएगा क्योंकि कांग्रेस सभी समुदायों और जातियों को साथ लेकर चलने में विश्वास करती है।”

अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के सदस्य किशोर कुमार झा का दावा है कि नये अध्यक्ष के चयन को लेकर प्रदेश प्रभारी के स्तर पर प्रदेश नेताओं के साथ कोई विचार-विमर्श नहीं हुआ है। झा ने कहा कि मेरा मानना है कि ऐसे किसी व्यक्ति को अध्यक्ष बनाना चाहिए, जो सबको साथ लेकर चल सके। इसके लिए पहले नेताओं के साथ विचार-विमर्श होना चाहिए। कोई भी एकतरफा फैसला पार्टी के हित में नहीं होगा।

उन्होंने कहा कि हाल के सालों में हमने देखा है कि अल्पसंख्यक समाज, ब्राह्मण और अन्य सवर्ण जातियां ही कहीं न कहीं कांग्रेस के वोबैंक का मुख्य आधार रही हैं। मौजूदा समय में ब्राह्मण अध्यक्ष है। इन सब बातों को पार्टी को जरूर ध्यान में रखना चाहिए।

पढें राज्य समाचार (Rajya News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट