ताज़ा खबर
 

प्रयागराज: रिक्शा ट्रॉली में 50 किमी दूर ले जाना पड़ा पत्नी का शव, जिला अस्पताल ने नहीं दी एंबुलेंस

कल्लू ने कहा कि मैं अस्पताल के अधिकारियों के सामने गिड़गिड़ाया। यहां तक कि कई बार मिन्नतें भी कीं, लेकिन उनका दिल नहीं पसीजा।

Author प्रयागराज | Published on: September 20, 2019 6:16 PM
रिक्शा ट्रॉली में इस तरह पत्नी का शव लेकर गए शंकरगढ़ निवासी कल्लू। फोटो सोर्स-स्थानीय

उत्तर प्रदेश के प्रयागराज के सरकारी अस्पताल का एक ऐसा मामला सामने आया है, जिसने इंसानियत को शर्मसार कर दिया। बताया जा रहा है कि प्रयागराज के जिला अस्पताल से एक शख्स को एंबुलेंस नहीं दी गई, जिसके चलते उसे अपनी पत्नी का शव रिक्शा ट्रॉली में रखकर करीब 50 किलोमीटर दूर ले जाना पड़ा। इस मामले में पीड़ित का कहना है कि उसने अस्पताल के अधिकारियों के सामने काफी मिन्नतें कीं, लेकिन उनका दिल नहीं पसीजा।

5 दिन पहले अस्पताल में कराया था भर्ती: शंकरगढ़ में रहने वाले कल्लू नाम के एक शख्स ने बताया कि करीब 5 दिन पहले उसकी पत्नी की तबीयत खराब हो गई थी। इसके चलते उसे प्रयागराज जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था। हालांकि, महिला की तबीयत में कोई सुधार नहीं हुआ और इलाज दौरान ही उसकी मौत हो गई।

National Hindi News, 20 September 2019 LIVE Updates: देश-दुनिया की हर खबर पढ़ने के लिए यहां करें क्लिक

अस्पताल ने नहीं दी एंबुलेंस: पीड़ित कल्लू का आरोप है कि उसने अपनी पत्नी का शव घर ले जाने के लिए अस्पताल प्रशासन से एंबुलेंस की मांग की, जिसके लिए इनकार कर दिया गया। कल्लू ने कहा कि मैं अस्पताल के अधिकारियों के सामने गिड़गिड़ाया। यहां तक कि कई बार मिन्नतें भी कीं, लेकिन उनका दिल नहीं पसीजा।

Swami Chinmayanand arrests Live Updates: बीजेपी नेता चिन्मयानंद की गिरफ्तारी से संबंधित हर खबर यहां पढ़ें

रिक्शा ट्रॉली में ले जाना पड़ा शव: कल्लू ने बताया कि इसके बाद उसने एक रिक्शा ट्रॉली का इंतजाम किया, जिसमें वह करीब 50 किलोमीटर दूर शंकरगढ़ अपनी पत्नी का शव ले गया। बता दें कि रास्ते में काफी लोगों ने इस घटना की तस्वीरें भी खींचीं, जो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं।

 

सरकार के दावों की पोल खोल रहे अस्पताल: गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश सरकार राज्य में फ्री एंबुलेंस चलाने का दावा करती है, लेकिन यह घटना उनके तमाम दावों की पोल खोल रही है। राज्य सरकार के अनुसार, प्रदेश में 102 और 108 नंबर की एंबुलेंस जनता के लिए बिल्कुल फ्री हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 मॉब लिंचिंग पर सख्त हुई बिहार सरकार, सीएम नीतीश बोले- दोषी को नहीं मिलेगी सरकारी नौकरी
2 IPS राजीव कुमार फिर नहीं पहुंचे सीबीआई कार्यालय, कल ही कोर्ट ने कहा था वारंट की जरूरत नहीं
3 बाढ़ राहत श‍िव‍िर में योगी आद‍ित्‍य नाथ के ल‍िए ब‍िछीं कालीनें, नहीं पहुंचे ड‍िप्‍टी सीएम केश्‍व मौर्या
जस्‍ट नाउ
X