ताज़ा खबर
 

तोगड़िया ने अब RSS को घेरा, पूछा- राम मंदिर पर किसके खिलाफ कर रहे प्रदर्शन

तोगड़िया ने बीजेपी के बाद आरएसएस को घेरा- कहा, राम मंदिर पर अपना रूख स्पष्ट करे स्वयं सेवक संघ

दक्षिणपंथी नेता प्रवीण तोगड़िया

दक्षिणपंथी नेता प्रवीण तोगड़िया ने बुधवार को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से कहा कि राम मंदिर के मुद्दे पर वह अपन रुख स्पष्ट करे। साथ ही उन्होंने मोदी सरकार से जानना चाहा कि वह अभी तक मंदिर बनाने में असफल क्यों रही है। अयोध्या में रविवार को विश्व हिन्दू परिषद की ओर से आयोजित ‘धर्म सभा’ का हवाला देते हुए तोगड़िया ने आरोप लगाया कि यह मध्यप्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनावों में भाजपा को लाभ पहुंचाने का प्रयास भी हो सकता है। तोगड़िया ने हाल ही में अंतरराष्ट्रीय हिन्दू परिषद का गठन किया है।
संवाददाता सम्मेलन में तोगड़िया ने कहा, ‘‘केन्द्र में भाजपा की सरकार के चार, साढ़े चार साल में वे (विहिप और आरएसएस) कहां थे? क्या वह इन विधानसभा चुनावों के कारण बाहर आए हैं या फिर आगामी लोकसभा चुनाव के कारण? क्या वह मंदिर के लिए था या फिर चुनावों के लिए?’’ उन्होंने सवाल किया कि एक महीने पहले आरएसएस के नेताओं ने लखनऊ में भाजपा नेताओं के साथ बैठक की। आरएसएस ने उस वक्त भाजपा से राम मंदिर बनाने को क्यों नहीं कहा? अब आप मंदिर के लिए प्रदर्शन कर रहे हैं लेकिन किसके खिलाफ? अगर आप केन्द्र के खिलाफ हैं तो उनके साथ क्यों हैं?

इससे पहले तोगड़िया ने कहा था, “जनता ने उन्हें राममंदिर का वकील बनने के लिए वोट दिया था, लेकिन वे तीन तलाक का कानून बनाकर मुस्लिम बीवियों के वकील बन गए। राम को धोखा दे दिया है। तोगड़िया अपने संगठन के विस्तार देने के लिए बरेली पहुंचे। यहां पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए उन्होंने ने कहा कि भाजपा ने दिल्ली में 500 करोड़ रुपये का आलीशान कार्यालय बना डाला। मगर अयोध्या में रामलला अभी तक टांट पर बैठे हैं।

भाजपा ने लोगों के साथ धोखेबाजी की है। उन्होंने कहा कि इस सरकार ने अपने किए वादे पूरे नहीं किए। अबकी बार हिंदुओं की सरकार, अबकी बार राममंदिर बनाने वाली सरकार, अबकी बार किसानों का कर्ज माफ करने वाली सरकार, अबकी बार सस्ता पेट्रोल डीजल, सस्ती शिक्षा और युवाओं को रोजगार देने की बात करने वाली इस सरकार ने अभी तक इनमें से एक भी काम नहीं किया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App