scorecardresearch

प्रशांत किशोर ने भी कबूली नीतीश कुमार से मीटिंग की बात, बोले- एक ही शर्त पर जॉइन करूंगा महागठबंधन

Nitish Kumar-Prashant Kishor: प्रशांत किशोर ने मुलाकात पर कहा कि नीतीश कुमार बिहार के सीएम हैं। हमारी मुलाकात सामाजिक शिष्टाचार के तहत हुई। मेरे द्वारा उठाए गए सवालों पर मैं कायम हूं।

प्रशांत किशोर ने भी कबूली नीतीश कुमार से मीटिंग की बात, बोले- एक ही शर्त पर जॉइन करूंगा महागठबंधन
प्रशांत किशोर (फोटो : पीटीआई)

Bihar Politics: चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर और बिहार के सीएम नीतीश कुमार के बीच हुई मुलाकात को लेकर इन दिनों खूब चर्चा है। दोनों के बीच गठबंधन की भी सुगबुगाहट है चल रही है। वहीं प्रशांत किशोर ने नीतीश कुमार से गठबंधन करने को लेकर एक शर्त रख दी है। शर्त में पीके ने कहा है कि अगर नीतीश कुमार बिहार में एक साल में 10 लाख लोगों को नौकरियां देते हैं तो वो उनसे गठबंधन करने के बारे में सोचेंगे।

बता दें कि प्रशांत किशोर ने सीएम नीतीश कुमार से मुलाकात करने की पुष्टि करते हुए कहा कि वह नीतीश कुमार से मिले थे। इसके अलावा नीतीश कुमार ने भी इस मुलाकात की पुष्टि करते हुए कहा है कि हमारी मुलाकात सामान्य थी और यह किसी राजनीतिक मुद्दे पर नहीं थी। नीतीश कुमार ने कहा कि प्रशांत किशोर के साथ उनका पुराना रिश्ता है। उन्होंने उनके प्रति किसी भी तरह की कड़वाहट से इनकार किया।

वहीं प्रशांत किशोर ने मुलाकात पर कहा कि नीतीश कुमार बिहार के सीएम हैं। हमारी मुलाकात सामाजिक शिष्टाचार के तहत हुई। मेरे द्वारा उठाए गए सवालों पर मैं कायम हूं। उन्होंने बताया कि हमारे बीच 1-2 घंटे तक मुलाकात चली। इस दौरान मैंने अपनी बात सीएम के सामने रखी। पिछले तीन चार महीने से बिहार के हालात देख रहा हूं, बिहार में विकास के जिन मुद्दों को मैंने देखा, उसे नीतीश कुमार से साझा किया है।

एबीपी न्यूज से बात करते हुए प्रशांत किशोर ने कहा, “नीतीश कुमार के साथ गठबंधन का हमारा कोई प्लान नहीं है। मैंने पहले भी कहा है कि नीतीश कुमार ने 10 लाख लोगों को नौकरी देने का वादा किया है। लेकिन मुझे नहीं लगता कि वो अपना वादा पूरा कर सकते हैं। लेकिन फिर भी उन्होंने इसपर दावा किया है।”

प्रशांत किशोर ने कहा कि जबतक बिहार के विकास में कोई परिवर्तन, लोगों की सोच में कोई बदलाव नहीं आ रहा तो मेरे मिलने से कोई फर्क नहीं पड़ने वाला है। उन्होंने कहा, “बिहार को लेकर मेरी जो सोच है, उससे समझौता नहीं किया जाएगा।” प्रशांत किशोर ने कहा कि अगर नीतीश कुमार एक साल में बिहार में 10 लाख लोगों को रोजगार दे देते हैं, तभी उनके साथ गठबंधन पर कोई बातचीत संभव है।

पढें राज्य (Rajya News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 15-09-2022 at 03:32:11 pm