ताज़ा खबर
 

व‍िह‍िप, बजरंग दल ने दी मकर संक्रांत‍ि की बधाई, पोस्‍टर में बुलंदशहर ह‍िंसा के मुख्‍य आरोपी की भी फोटो

मकर संक्रांति व गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं देते हुए एक पोस्टर जारी किया गया है। इस पोस्टर में बुलंदशहर हिंसा के मुख्य आरोपी योगेश राज की भी तस्वीर लगी है।

Author Updated: January 14, 2019 3:07 PM
व‍िह‍िप और बजरंग दल के पोस्‍टर में बुलंदशहर ह‍िंसा के मुख्‍य आरोपी की भी फोटो। (Photo: Twitter@scribe_prashant)

उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में कुछ समय पहले गोकशी की अफवाह में फैली हिंसा के बाद भीड़ द्वारा इंस्पेक्टर सुबोध सिंह की हत्या कर दी गई थी। इस मामले में बजरंग दल के जिला संयोजक योगेश राज को पुलिस ने मुख्य आरोपी बनाया था। अब एक बार फिर विश्व हिंदू परिषद और बजरंग दल विवादों में आ गया है। दरअसल, मकर संक्रांति व गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं देते हुए एक पोस्टर जारी किया गया है। इस पोस्टर में बुलंदशहर हिंसा के मुख्य आरोपी योगेश राज की भी तस्वीर लगी है। यह पोस्टर योगेश राज के घर के बाहर लगा दिखा। पोस्टर पर लिखा है, “विश्व हिंदू परिषद बजरंग दल की ओर से मकर संक्रांति व गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं।”

पोस्टर के निचले हिस्से में योगेश राज प्रवीण और प्रवीण भाटी की तस्वीर लगी है। वहीं, पोस्टर के ऊपरी हिस्से में सतीश लोधी, आशीष चौहान, सत्येंद्र राजपूत और विशाल त्यागी की तस्वीर लगी है। प्रवीण भाटी को छोड़ अन्य सभी बुलंदशहर हिंसा के आरोपी हैं। कुछ समय पहले योगेश को निर्दोष बताते हुए उसके समर्थन में फेसबुक पर एक अभियान की शुरूआत की गई थी। यह तब आया था जब योगेश ने एक वीडियो जारी कर कहा था कि बुलंदशहर हिंसा मामले में उसने कुछ नहीं किया था। खुद का बचाव करते हुए बजरंग दल के जिला संयोजक ने कहा था कि जब पुलिस और भीड़ के बीच झड़प हुई थी, तब वह मौके पर मौजूद नहीं था। बजरंल दल के द्वारा भी उसे कानूनी सहायता प्रदान की गई।

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में बीते वर्ष 3 दिसंबर को कथित तौर पर गोकशी के बाद हिंसा भड़क गई थी। भीड़ द्वारा उग्र प्रदर्शन किया गया था और इंस्पेक्टर सुबोध कुमार की हत्या कर दी गई थी। साथ ही भीड़ में शामिल एक युवक की भी मौत हो गई थी। इस मामले में पुलिस ने सबसे पहले जीतू फौजी को गिरफ्तार किया था। पुलिस के अनुसार, आरोपी जीतू ने हिंसा के दौरान भीड़ में शामिल होने की बात कबूल की थी। इसके बाद 27 दिसंबर को इंस्पेक्टर सुबोध की हत्या के आरोपी प्रशांत नट को गिरफ्तार किया गया था। उसने भी पूछताछ में अपना जुर्म कबूल कर लिया था। वहीं,  29 दिनों तक फरारी के बाद मुख्य आरोपी योगेश राज को 2 जनवरी की रात गिरफ्तार कर लिया गया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 कोलकाता में 1930 से चल रही मीट की दुकान को करना पड़ा बंद, जानें हैरान करने वाला कारण
2 इंटरसेप्ट मामले में मोदी सरकार को सुप्रीम कोर्ट का नोटिस, 6 सप्ताह में मांगा जवाब
3 दिल्‍ली: पाकिस्‍तानी डिप्‍लोमैट ने महिला से की बहस, माफी मांगी तब जाने दिया
जस्‍ट नाउ
X