ताज़ा खबर
 

उन्नाव केस पर सियासत! प्रियंका ने ट्वीट कर तीसरी बच्ची को दिल्ली शिफ्ट करने की उठाई मांग; अखिलेश के जाने के अटकलों के बीच छावनी में तब्दील हुआ गांव

प्रियंका ने फेसबुक पर बयान जारी कर कहा कि उन्नाव की घटना दिल दहला देने वाली है। लड़कियों के परिवार की बात सुनना एवं तीसरी बच्ची को तुरंत अच्छा इलाज मिलना जांच-पड़ताल एवं न्याय की प्रक्रिया के लिए बेहद जरूरी है। घटना के बाद बबुरहा गांव को छावनी में तब्दील कर दिया है।

Edited By सिद्धार्थ राय नई दिल्ली | Updated: February 18, 2021 1:36 PM
उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्य मंत्री अखिलेश यादव और कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा।

उत्तर प्रदेश का उन्नाव जिजिला एक बार फिर सुर्खियों में हैं। यहां असोहा थाना क्षेत्र के बबुरहा गांव में खेत से दो नाबालिग लड़कियों के संदिग्ध हालत में शव मिलने से हड़कंप मच गया है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने इस घटना को दिल दहला देने वाली करार दिया और तीसरी लड़की को जल्द से जल्द दिल्ली शिफ्ट करने की बात की है।

प्रियंका ने फेसबुक पर बयान जारी कर कहा कि उन्नाव की घटना दिल दहला देने वाली है। लड़कियों के परिवार की बात सुनना एवं तीसरी बच्ची को तुरंत अच्छा इलाज मिलना जांच-पड़ताल एवं न्याय की प्रक्रिया के लिए बेहद जरूरी है। खबरों के अनुसार पीड़ित परिवार को नजरबंद कर दिया गया है। यह न्याय के कार्य में बाधा डालने वाला काम है। आखिर परिवार को नजरबंद करके सरकार को क्या हासिल होगा। यूपी सरकार से निवेदन है कि परिवार की पूरी बात सुने एवं त्वरित प्रभाव से तीसरी बच्ची को इलाज के लिए दिल्ली शिफ्ट किया जाए।

घटना के बाद बबुरहा गांव को छावनी में तब्दील कर दिया है।उन्नाव जनपद के नौ थानों की पुलिस फोर्स गांव में तैनात है। इसके साथ ही 19 दरोगाओं, 70 मुख्य आरक्षी, 30 सिपाहियों की अतिरिक्त तैनाती की गई। पीड़िता के गांव में समाजवादी पार्टी के लोग धरने पर बैठे। सपाई घटना की सीबीआई जांच कराने की मांग कर रहे हैं। सपाइयों ने पार्टी मुखिया अखिलेश यादव को पूरे घटनाक्रम से अवगत भी करा दिया है। सूचना आ रही है कि अखिलेश किसी भी वक्त पीड़ितों से मिलने पहुंच सकते हैं। इस सूचना के बाद गांव में पुलिस और सक्रिय हो गई है।

कांग्रेस उत्तर प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने ट्विट कर लिखा “उन्नाव में तीन बेटियों साथ हुई बर्बरता ने देश को हिलाकर रख दिया है। उप्र में बेटी होना अभिशाप हो गया है। एक के बाद एक जिले में बेटियों के साथ बर्बरता, उन्नाव में ऐसी घटनाओं की पुनरावृत्ति योगी सरकार के निकम्मेपन का प्रमाण है। मुख्यमंत्री को पद पर बने रहने का कोई अधिकार नहीं है।”

वहीं सीपीआई नेता सुभाषिनी अली ने इस घटना को लेकर यूपी सरकार पर कड़ा प्रहार किया। उन्होंने कहा कि यूपी में रोज ऐसी घटनाएं हो रही हैं और यूपी सरकार सिर्फ अपने एजेंडे में लगी है। सरकार का इस प्रकार की घटनाओं पर कोई ध्यान नहीं है। प्रदेश की कानून व्यवस्था पूरी तरह लचर हो चुकी। देखा जाए तो अब उत्तर प्रदेश बहू-बेटियों के लिए सुरक्षित नहीं रह गया है।

बॉलीवुड अभिनेत्री स्वरा भास्कर ने भी ट्वीट कर इसकी निंदा की है। स्वरा ने लिखा “और क्या होना बाक़ी है???? उत्तर प्रदेश में और क्या होना है कि अजय बिष्ट की सरकार का इस्तीफ़ा माँगा जा सके.. और राष्ट्रपति शासन लागू हो?”

क्या है मामला –

ग्राम पंचायत पाठकपुर के मजरे बबुरहा में कल लगभग दोपहर 3:00 बजे के करीब तीन नाबालिग लड़कियां खेत में पशुओं के लिए हरा चारा लेने गई थी, लेकिन देर शाम तक घर नहीं लौटीं। शाम में परिजन लड़कियों को खोजने के लिए निकले। परिजनों के मुताबिक, खेत में तीनों लड़कियां कपड़े से बंधी मरणासन्न हालत में मिली थी।

Next Stories
1 ‘पुलिस और सिस्टम को अपनी जेब में रखता हूं’, बोले BJP विधायक- मेरा कॉलर पकड़ने की ताकत कोई नहीं दिखा सकता
2 VIDEO: राहुल गांधी से हाथ मिला झूमने लगी लड़की, राहुल ने कैमरे की तरफ दिखा कर गले लगा लिया
3 पुदुचेरी: महिला ने तमिल में राहुल गांधी से की शिकायत, अनुवाद कर CM बोले- मेरी तारीफ कर रही हैं; भाजपा ने ली चुटकी
यह पढ़ा क्या?
X