ताज़ा खबर
 

सोशल मीडिया की उपेक्षा करके कोई भी पार्टी आगे नहीं बढ़ सकती: मुलायम

लखनऊ। समाजवादी पार्टी (सपा) प्रमुख मुलायम सिंह यादव ने आज कहा कि लोकतंत्र में अब कोई भी राजनीतिक दल सोशल मीडिया की उपेक्षा करके आगे नहीं बढ़ सकता। यादव ने यहां इंडियन फेडरेशन ऑफ वर्किंग जर्नलिस्ट्स द्वारा ‘सोशल मीडिया: वरदान या अभिशाप’ विषय पर आयोजित गोष्ठी को सम्बोधित करते हुए कहा कि उनके पुत्र अखिलेश […]

Author Published on: November 11, 2014 6:46 PM

लखनऊ। समाजवादी पार्टी (सपा) प्रमुख मुलायम सिंह यादव ने आज कहा कि लोकतंत्र में अब कोई भी राजनीतिक दल सोशल मीडिया की उपेक्षा करके आगे नहीं बढ़ सकता। यादव ने यहां इंडियन फेडरेशन ऑफ वर्किंग जर्नलिस्ट्स द्वारा ‘सोशल मीडिया: वरदान या अभिशाप’ विषय पर आयोजित गोष्ठी को सम्बोधित करते हुए कहा कि उनके पुत्र अखिलेश यादव इस वक्त उत्तर प्रदेश में बहुमत की सरकार के मुख्यमंत्री हैं। इस कामयाबी में सोशल मीडिया की सबसे महत्वपूर्ण भूमिका थी।

उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया का सपा के प्रति कुल मिलाकर अच्छा रुख ही रहा है। सपा नेताओं ने पिछली सरकार के कार्यकाल में जनमुद्दों को लेकर सड़कों पर आंदोलन किये और तमाम जुल्म सहन किये। सोशल मीडिया ने सपा के इन प्रयासों को दुनिया के सामने रखा, जिससे छात्रों, वकीलों, किसानों समेत सभी वर्गों की सहानुभूति सपा के साथ हो गयी।

मुख्यमंत्री अखिलेश यादव द्वारा हाल में मीडिया पर तल्ख टिप्पणियां किये जाने के बीच सपा प्रमुख ने कहा कि मीडिया को फैसलों की जानकारी देने के लिये बेहतर व्यवस्था नहीं कर पाना इस सरकार की कमी है। उन्होंने कहा, ‘‘हम तो सरकार वालों से कहते हैं कि आप मीडिया को दोष क्यों देते हैं। अपने फैसलों के बारे में मीडिया को बताइये। सरकार में यह कमी है।’’

सपा मुखिया ने कहा कि उन्होंने लगातार कई सालों से मीडिया को देखा भी है और ‘भोगा’ भी है। मीडिया से जो सहयोग मिला उसे कुल मिलाकर अच्छा ही माना जाएगा। सरकार और समाज को आइना दिखाने में सोशल मीडिया की बहुत बड़ी जिम्मेदारी है।

देश की सीमाओं को असुरक्षित बताते हुए यादव ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चीन जैसे धोखेबाज देश पर भरोसा कर रहे हैं जिसके विश्वासघात से लगे सदमे के कारण प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू का निधन हुआ था।

उन्होंने केंद्र सरकार को एक बार फिर ‘डरपोक’ करार देते हुए कहा कि चीन ने भारतीय सरहद के पहाड़ों को काटकर सड़कें बना ली हैं, जबकि उनके रक्षामंत्रित्वकाल में हिन्दुस्तानी सीमा पर बनवायी गयी सड़कें बदहाल हो चुकी हैं और उनकी कोई चर्चा ही नहीं की जा रही है। यह ‘डरपोक’ सरकार है और ऐसी सरकार मुल्क की रक्षा नहीं कर सकती।

यादव ने कहा कि उनके रक्षामंत्रित्वकाल में चीन या पाकिस्तान भारतीय सीमा में एक कदम भी नहीं घुस सका था। उस वक्त सेना के उच्चाधिकारियों ने इसकी तारीफ की थी। सेनाओं का मनोबल बढ़ाना बहुत जरूरी है। देश की रक्षा के बारे में आज कई प्रश्नचिह्न लगे हैं।

सपा प्रमुख ने कहा कि देश के सामने महंगाई और भ्रष्टाचार का सवाल बना हुआ है, जो लोग बड़े-बड़े वादे करके सत्ता में आये उन्होंने अब तक अपना एक भी वादा पूरा नहीं किया। यह हमारा नहीं बल्कि पूरे देश का सवाल है।

यादव ने कहा कि महंगाई पर संसद में काफी बहस के बाद दिखावे के लिये डीजल और पेट्रोल के दामों में थोड़ी सी कमी कर दी गयी, लेकिन उससे महंगाई के बोझ में कोई कमी नहीं आयी। देश में 27 प्रतिशत लोग आज भी भरपेट भोजन से वंचित हैं।

देश में किसानों की उपेक्षा का आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा कि मुल्क में 65 प्रतिशत लोग कृषि पर निर्भर हैं। वे देश की ताकत हैं लेकिन उनको नजरअंदाज किया जा रहा है। अमेरिका ने जब अपने किसानों को सबसे ज्यादा सुविधाएं दीं तो वह दुनिया का अव्वल मुल्क बन गया और जब उसने कृषकों की उपेक्षा की तो उसकी अर्थव्यवस्था को झटका लगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories