ताज़ा खबर
 

बरेली ग्रामीण क्षेत्र में मुस्लिम विरोधी पोस्टर चिपकाने वाले बदमाशों को पकड़ने के लिए पुलिस की दो टीमें गठित

बरेली से 70 किमी दूर जियानगला के एक ग्रामीण ने बुधवार को पुलिस में इस सिलसिले में शिकायत दर्ज कराई है।

Author लखनऊ | March 17, 2017 2:42 AM
इस तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

लखनऊ, उत्तर प्रदेश पुलिस ने गुरुवार को कहा कि बरेली जिले के गांव में मुसलमानों को अपना घर छोड़ने की धमकी देने वाला पोस्टर चिपकाने वाले बदमाशों का पता लगाने के लिए पुलिस की दो टीमों का गठन किया गया है। पुलिस ने धर्म, जाति, जन्म स्थान, निवास, भाषा के आधार पर विभिन्न समूहों के बीच शत्रुता को बढ़ावा देने और इसके प्रतिकूल कृत्य के लिए भारतीय दंड संहिता की धारा 153-ए के तहत अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। पुलिस जनसंपर्क विभाग के महानिदेशक राहुल श्रीवास्तव ने आईएएनएस को बताया कि प्रथमदृष्टया इस मामले में गांव के कुछ शरारती तत्वों का हाथ लगता है। बरेली से 70 किमी दूर जियानगला के एक ग्रामीण ने बुधवार को पुलिस में इस सिलसिले में शिकायत दर्ज कराई। इस शिकायत में ग्रामीण ने कहा है कि हिंदी में लिखे पोस्टर उसके घर की दीवार और दरवाजे पर चिपकाए गए हैं जिसमें मुस्लिम ग्रामवासियों को साल के अंत तक गांव छोड़ने को कहा गया है क्योंकि भाजपा उत्तर प्रदेश की सत्ता में आ गई है। गांव में 2,600 निवासी हैं जिसमें से 250 मुस्लिम हैं।

जिले के अधिकारियों ने आईएएनएस से कहा कि कुछ को छोड़कर बाकी पोस्टर फोटोकापी कराए गए हैं। इनमें शुरू में ‘जयश्री राम’ लिखा गया है और हस्ताक्षर की जगह पर ‘गांव के हिंदू’ लिखा गया है। मुस्लिम निवासियों ने पुलिस से अपनी सुरक्षा सुनिश्चित करने का निवेदन किया है। एक वरिष्ठ अधिकारी ने आईएएनएस से कहा, खुफिया इकाइयों ने गांव व आसपास के इलाके पर सर्तकता बढ़ा दी है। हम बदमाशों पर पर कड़ी नजर बनाए हुए हैं। पिछली सरकार में हुए दंगों से सबक ले चुके पुलिस अधिकारी इस मामले को अत्यंत गंभीरता से ले रहे हैं। पिछले कई सालों से कुछ अराजक तत्व राजनैतिक लाभ के लिए राज्य हिंदू मुस्लिम को भडकाने का काम करते रहे हैं अभी हाल ही में मोदी सरकार को उत्तर प्रदेश में इतना प्रचंड बहुमत मिला है। पार्टी जहां अभी राज्य का मुख्यमंत्री चहेरा भी निश्चित नही कर पाई है वहीं इस प्रकार की घटना शांति भंग करने वाली है। उत्तर प्रदेश पुलिस की अभी यह बडी जिम्मेदारी हो गयी है कि शांति भंग करने वालों के खिलाफ सख्त कारवाई करे ताकि प्रदेश में आपसी सौहार्द बना रहे।

 

 

बीजेपी के संसदीय बोर्ड की बैठक में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के नाम पर चर्चा; रविशंकर प्रसाद ने कहा- "CM बहुत योग्य होगा"

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App