ताज़ा खबर
 

पश्चिम बंगाल: 10 लाख रुपए में बेच रहे थे ‘बोतल में बंद जिन्न’, चार गिरफ्तार

पुलिस ने बताया कि तापस राय चौधरी नाम के एक व्यक्ति को उनके एक दोस्त ने फोन किया कि एक भूत बिक्री के लिए उपलब्ध है जो उनके लिए कुछ भी कर सकता है और उनके सपनों को हकीकत में बदल सकता है।

Author बर्दवान | January 22, 2018 12:39 PM
इस तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

‘बोतल में जिन्न’ बेचने का प्रयास कर रहे चार लोगों को पुलिस ने बर्दवान से गिरफ्तार किया है। इनमें पुलिस का एक चालक भी शामिल है। ये लोग कोलकाता के निकट बागुइती के रहने वाले एक व्यक्ति को इसे बेचने का प्रयास कर रहे थे। पुलिस ने बताया कि तापस राय चौधरी नाम के एक व्यक्ति को उनके एक दोस्त ने फोन किया कि एक भूत बिक्री के लिए उपलब्ध है जो उनके लिए कुछ भी कर सकता है और उनके सपनों को हकीकत में बदल सकता है। विक्रेता के साथ मिलने का समय तय करने के बाद रायचौधरी एक दोस्त के साथ बर्दवान शहर आए। चार लोग उनको एक पुलिस का स्टीकर लगे एक वाहन में लेकर होटल में गए।

चारों ने उन्हें एक छोटा कोल्ड ड्रिंक का बोतल दिखाया जिसमें एक रुपए का सिक्का पड़ा हुआ था और कहा कि भूत बोतल के अंदर है। उन्होंने भूत की कीमत दस लाख रुपए बताई। रायचौधरी ने जब कहा कि उनके पास रुपए नहीं हैं तो चारों ने उनके और उनके दोस्त के 600 रुपए छीन लिए और उन्हें होटल के कमरे में बंद कर दिया। पुलिस ने बताया कि रायचौधरी ने अपने एक दोस्त से संपर्क साधा जिसने बर्दवान पुलिस को सूचना दी और चारों को गिरफ्तार कर लिया गया।

चारों में एक पुलिस का चालक है। चारों को गुरुवार की रात को गिरफ्तार किया गया था और रविवार को उन्हें स्थानीय अदालत से जमानत मिल गई। वहीं दूसरी तरफ पश्चिम बंगाल में चल रही राजनीति की बात करें तो माकपा महासचिव सीताराम येचुरी ने कांग्रेस से गठबंधन की पेशकश वाला एक मसौदा प्रस्ताव पेश किया, लेकिन पार्टी की केंद्रीय समिति ने रविवार को इसे ठुकरा दिया। येचुरी की ओर से तैयार मसौदे में इसकी पैरवी की कई थी कि भाजपा को रोकने के लिए कांग्रेस से तालमेल किया जाए।

पोलित ब्यूरो के सदस्य प्रकाश करात की अगुवाई में केरल के प्रतिनिधियों ने प्रस्ताव के खिलाफ मतदान किया। करात की अगुवाई वाले धड़े ने कांग्रेस के साथ प्रत्यक्ष या परोक्ष किसी भी तरह के गठबंधन का विरोध किया। पार्टी महासचिव येचुरी ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘कुछ संशोधनों के बाद स्वीकार किया गया राजनीतिक मसौदा प्रस्ताव कहता है कि कांग्रेस के साथ किसी तरह का चुनावी गठबंधन या समझौता नहीं किया जाएगा।’’ येचुरी के प्रस्ताव के विरोध में 55 प्रतिनिधियों ने मतदान किया तो 31 ने इसके पक्ष में मतदान किया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App