ताज़ा खबर
 

मथुरा: खून से लथपथ मिला दरोगा का शव, हत्या की आंशका

फर्श पर खून बिखरा पड़ा था और दारोगा नन्दकिशोर शर्मा मृत पड़े थे। उनका चेहरा खून से लथपथ था और पीठ पर चोट के निशान थे।
Author मथुरा | July 18, 2016 16:30 pm
(representative picture)

उत्तर प्रदेश के मथुरा जनपद में सुरक्षा के लिहाज से अति संवेदनशील श्रीकृष्ण जन्मस्थान-शाही ईदगाह परिसर की सुरक्षा व्यवस्था में तैनात एक उपनिरीक्षक का खून से लथपथ शव मिला । आशंका है कि उनकी हत्या की गई है । श्रीकृष्ण जन्मस्थान के निकट मल्लपुरा मोहल्ले में किराए पर एक कमरे में अकेले रहने वाले उपनिरीक्षक नंद किशोर शर्मा :58: का शव तब मिला जब उनके पास ही एक अन्य मकान में रह रहे खुफिया विभाग के एक दारोगा ने उनके कमरे की नाली से खून बहकर आते देखा।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक बबलू कुमार ने बताया कि बागपत जिले के कस्बा दोघट निवासी उपनिरीक्षक :विशेष श्रेणी: शर्मा दो साल से श्रीकृष्ण जन्मस्थान परिसर की सुरक्षा व्यवस्था में तैनात थे और जन्मभूमि के निकट पोतरा कुंड के पास मोहल्ला मल्लपुरा में किराए पर अकेले रह रहे थे।

पंद्रह जुलाई को सुबह की पाली में पांच से एक बजे तक ड्यूटी करने के बाद वह अपने कमरे पर चले गए थे। अगले दिन वह ड्यूटी पर नहीं पहुंचे। श्रीकृष्ण जन्मस्थान स्थित पुलिस कण्ट्रोल रूम प्रभारी ने इसका कारण जानने की कोशिश की, लेकिन उनका कोई पता नहीं चला।
कल उनके कमरे के निकट से गुजरते हुए उपनिरीक्षक अनिल कुलश्रेष्ठ ने जब उनके कमरे से खून बहकर आते देखा तो उन्हें कुछ संदेह हुआ। उन्होंने तुरंत पुलिस कण्ट्रोल रूम को जानकारी दी।

इसके बाद सभी वरिष्ठ अधिकारी मौके पर पहुंचे और कमरे का ताला तुड़वाकर देखा तो दंग रह गए। फर्श पर खून बिखरा पड़ा था और दारोगा नन्दकिशोर शर्मा मृत पड़े थे। उनका चेहरा खून से लथपथ था और पीठ पर चोट के निशान थे। आशंका है कि सिर पर किसी भारी वस्तु से प्रहार कर उनकी हत्या की गई है। कमरे का बाहर से ताला लगा था। आशंका है कि हत्या के बाद हत्यारे ने ही बाहर से ताला लगाया होगा।
वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने बताया कि घटना की जांच के लिए टीम गठित कर दी गई है। फॉरेंसिक टीम ने भी घटनास्थल से सबूत जुटाने के लिए फिंगर प्रिंट लिए हैं तथा पोस्टमॉर्टम के बाद उनका शव परिजनों को सौंप दिया गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App