ताज़ा खबर
 

झारखंड गैंगरेपःस्कूल के फादर ने आरोपियों से कहा-ननों को छोड़ दो, लड़कियों को साथ लिए जाओ

गैंगरेप के इस मामले में फादर अल्फांसो का नाम आने पर कैथोलिक बिशप कॉन्फ्रेंस ऑफ इंडिया के महासचिव बिशप मैस्केरेनेस ने पुलिस पर फादर अल्फांसो को फंसाने का आरोप लगाया था।

झारखंड गैंगरेप में स्कूल के फादर की भूमिका संदिग्ध। (file photo)

बीते मंगलवार को झारखंड में 5 युवतियों के साथ हुए गैंगरेप के मामले में नया खुलासा हुआ है। दरअसल पुलिस जांच में पता चला है कि स्कूल के फादर ने आरोपियों से नन को छोड़ने और लड़कियों को साथ ले जाने को कहा था। इतना ही नहीं फादर ने पीड़िताओं से इस मामले की शिकायत पुलिस से ना करने की बात भी कही थी। झारखंड के एडिशनल डीजीपी आरके मलिक ने उन आरोपों को नकार दिया है, जिसमें फादर अल्फांसो एलिएन को फंसाने की बात कही जा रही है। डीजीपी ने कहा कि इस केस में फादर के खिलाफ उनके पास पुख्ता सबूत हैं।

क्या है मामलाः गैंगरेप की घटना झारखंड के खूंटी जिले की है, जहां एक एनजीओ के 11 सदस्य मानव तस्करी के खिलाफ नुक्कड़ नाटक का मंचन करने एक स्कूल में पहुंचे थे। इसी दौरान वहां 6 लोग आए और उन्होंने एनजीओ के सदस्यों का हथियारों के बल पर अपहरण कर लिया। एनजीओ के सदस्यों में 5 लड़कियां थी। पुलिस का कहना है कि जब आरोपी एनजीओ के सदस्यों को अपने साथ ले जा रहे थे, तो उनके साथ नन भी थी। इस पर स्कूल के फादर अल्फांसो ने आरोपियों से विनती करते हुए कहा कि ननों को छोड़ दें और लड़कियों को ले जाएं। इस पर आरोपियों ने फादर की बात मानते हुए ननों को छोड़ दिया और एनजीओ के बाकी सदस्यों को अपने साथ ले गए। घटनास्थल से कुछ दूर स्थित जंगल में आरोपियों ने पीड़िताओं के साथ गैंगरेप किया और 3 पीड़ित युवकों के साथ अप्राकृतिक हरकतें की। 4 घंटे बाद जब आरोपी पीड़ितों को लेकर वापस स्कूल पहुंचे तो फादर अल्फासों ने उन्हें सलाह दी कि वह इस बारे में पुलिस को कुछ ना बताएं।

HOT DEALS
  • Lenovo Phab 2 Plus 32GB Gunmetal Grey
    ₹ 17999 MRP ₹ 17999 -0%
    ₹0 Cashback
  • Honor 7X Blue 64GB memory
    ₹ 15590 MRP ₹ 17990 -13%
    ₹0 Cashback

फादर अल्फांसो पर लगे ये आरोपः गैंगरेप के इस मामले में फादर अल्फांसो का नाम आने पर कैथोलिक बिशप कॉन्फ्रेंस ऑफ इंडिया के महासचिव बिशप मैस्केरेनेस ने पुलिस पर फादर अल्फांसो को फंसाने का आरोप लगाया था। इस पर झारखंड पुलिस का कहना है कि ‘पुलिस कभी भी जाति या धर्म के आधार पर किसी के खिलाफ कोई कारवाई नहीं करती और फादर अल्फांसों को फंसाने वाली बात बिल्कुल गलत है। पुलिस का कहना है कि फादर अल्फांसो का व्यवहार खुद ही यह बताने के लिए काफी है कि गैंगरेप की इस घटना में मिशनरी स्कूल का भी इन्वॉल्वमेंट है।’ उल्लेखनीय है कि इस मामले में पुलिस ने 2 आरोपियों को हिरासत में ले लिया है और उनसे पूछताछ की जा रही है। पुलिस का कहना है कि जल्द ही बाकी आरोपी भी पकड़ लिए जाएंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App