ताज़ा खबर
 

शर्मनाक! पुलिस ने रिटायर्ड टीचर को नंगा कर बेटी के सामने पीटा, गुस्‍साए ग्रामीणों ने खदेड़ा

सचेन्द्र भगत ने बताया कि दलाल पुलिस के नाम पर वसूली करते हैं। जब इसकी शिकायत उन्होंने थानाध्यक्ष से की तो इस बात से थानाध्यक्ष नाराज हो गए।

बिहार के मधेपुरा की घटना। (file photo)(representational image)

बिहार पुलिस द्वारा एक रिटायर्ड टीचर को नंगा कर उसके परिजनों के सामने बुरी तरह पीटने का मामला सामने आया है। मामला मधेपुरा के गम्हरिया थाना क्षेत्र का है, जहां रिटायर शिक्षक सचेन्द्र भगत के साथ पुलिस द्वारा लात-घूंसो और बंदूक की बट से मारपीट का मामला सामने आया है। घटना की सूचना पाकर आसपास के लोग जब सचेन्द्र भगत के घर पहुंचे तो पुलिस की बेरहमी देखकर लोगों का गुस्सा भड़क गया और लोगों ने पुलिस को खदेड़ दिया। पीड़ित सचेन्द्र भगत ने बताया कि गम्हरिया थानाध्यक्ष राजेश कुमार दलालों से घिरे रहते हैं।

सचेन्द्र भगत ने बताया कि दलाल पुलिस के नाम पर वसूली करते हैं। जब इसकी शिकायत उन्होंने थानाध्यक्ष से की तो इस बात से थानाध्यक्ष नाराज हो गए और स्थानीय दलालों के साथ मिलकर मेरे ऊपर फर्जी मुकदमा दर्ज करवा दिया। इनाडु इंडिया की खबर के अनुसार, सचेन्द्र भगत ने बताया कि 5 अगस्त की रात पुलिस उनके घर में घुस गई और फिर नंगा कर मेरी पत्नी, बेटी और अन्य परिजनों के सामने बेरहमी से पीटते रहे। बेटी और पत्नी जब मुझे बचाने आए तो पुलिस ने उनके साथ भी हाथापाई की।

खबर के अनुसार, पुलिस द्वारा सचेन्द्र भगत की बेरहमी से पिटाई होती देख स्थानीय लोगों का गुस्सा भड़क गया। लोग पुलिस की कारवाई का विरोध करते हुए पुलिस पर टूट पड़े। हालांकि किसी तरह पुलिसकर्मी गाड़ी में सवार होकर मौके से निकल गए। पीड़ित सचेन्द्र का कहना है कि उन्होंने इस घटना की शिकायत पटना जाकर डीजीपी से भी की है। डीजीपी ने मामले की जांच कराकर कारवाई का आश्वासन दिया है। इसके साथ साथ पीड़ित ने मानवाधिकार आयोग से भी शिकायत की है और बिहार सरकार के मुख्य सचिव को इसकी जानकारी दी है। मधेपुरा के एसपी का कहना है कि मामले की जांच कराकर आगे की कारवाई की जाएगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App