ताज़ा खबर
 

दिल्‍ली: दूसरी पत्‍नी को बेचने जा रहा था शख्‍स, मगर जिसे ‘बेचा’ वो पुलिसवाला था

घरेलू कलह से परेशान एक व्यक्ति ने अपनी दूसरी पत्नी को बेचने की कोशिश की। लेकिन वह जिसे बेचने जा रहा था, पुलिसवाला निकला और उसे गिरफ्तार कर लिया।

प्रतीकात्मक तस्वीर (Photo credit- Indian express)

गुरुवार की देर शाम एक ट्रेन नई दिल्ली स्टेशन में प्रवेश कर चुकी थी। उसमें सवार एक महिला अपने परिवार से मिलकर उन्हें सरप्राइज देने के लिए उत्सुक थी। लेकिन उसे क्या पता था, जिस पति के साथ वह हजारों किलोमीटर का सफर तय कर आ रही है, उसके दिमाग में कुछ और ही चल रहा है। वह उसे परिवारवालों से मिलाने के लिए नहीं लाया है, बल्कि अगले कुछ घंटों में या तो उसकी हत्या कर देगा या उसे बेच देगा। करीब एक सप्ताह की प्लानिंग और रात भर की यात्रा के बाद बिहार के अररिया के रहने वाले 32 वर्षीय सद्दाम हुसैन अपनी पत्नी को बेचने के लिए दिल्ली लेकर चला आया। लेकिन जो हुआ, उसकी कल्पना सद्दाम ने नहीं की थी। अपनी पत्नी को बेचने के लिए उसने जिस शख्स से सौदा किया था, वह पुलिसवाला निकला। पुलिस ने सद्दाम को गिरफ्तार कर लिया और उसकी निशानदेही पर महिला (उसक पत्नी) को बरामद कर नारी निकेतन भेज दिया। सच्चाई सामने आने के बाद महिला हैरान है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, सद्दाम की शादी पांच वर्ष पहले हुई थी। लेकिन दो वर्ष पहले उसने फिर से एक महिला से दूसरी शादी की। वजह ये थी कि यह महिला काफी खूबसूरत थी। लेकिन यही खूबसूरती महिला के लिए जंजाल बन गई। कई जगह महिला के उपर लोग कमेंट भी कर देते। इस बात को लेकर सद्दाम काफी चिढ़ता था और महिला से अक्सर उसकी नोकझोंक होती थी। यद्यपि वे दो अलग-अलग कमरे वाले घर में रहते थे। सद्दाम सप्ताह में कम से कम दो बार अपनी पहली पत्नी और तीन बच्चों से मिलने जाता था। बीते एक अगस्त को महिला के साथ बाजार में खरीददारी करने के दौरान एक व्यक्ति ने कुछ कमेंट कर दिए। इस बात को लेकर सद्दाम और उस व्यक्ति के बीच झगड़ा हो गया। इसके बाद सद्दाम ने उस रात को फैसला किया कि वह अब और बर्दास्त नहीं कर सकता और महिला की हत्या करने की नीयत से बाजार से एक चाकू खरीदकर लाया। लेकिन रात गुजरने के दौरान उसके दिमाग में एक और आइडिया आया। उसने सोचा कि इसे मारने की जगह दिल्ली में कोठे पर बेच दें।

इसके बाद सद्दाम ने महिला से कहा कि वे अचानक दिल्ली जाकर उसके परिवार को सरप्राइज देंगे। इसके बाद उसने वेश्याओं और दलालों के बारे में पता लगाना शुरू कर दिया। महिला किस्मतवाली थी! सद्दाम ने जिस दलाल से बात किया, वह पुलिस का मुखबिर निकला। मुखबिर ने यह सूचना कमला मार्केट के एसएचओ सुनील कुमार को दी। अब सुनील कुमार ग्राहक बन उससे बात करने लगे। सद्दाम को यह पता नहीं चल सका कि अगला आदमी जिससे वह दो दिन बाद मिलने वाला है, वह एक पुलिस अधिकारी है। सद्दाम इस सौदे के लिए 1.5 लाख चाहता था, लेकिन बात 1.2 लाख पर तय हुई। उसने गुरुवार की रात 8 बजे अपनी पत्नी को उस दलाल के हाथों सौंपने का वादा किया। हालांकि, उसने यह भी तैयारी कर रखी थी कि यदि दलाल नहीं आया तो वह महिला की हत्या कर देगा।

 

गुरुवार की शाम जब ट्रेन दिल्ली पहुंचने वाली थी स्टेशन से कुछ दूरी पर कमला मार्केट के एसएचओ सुनील कुमार महिला और उसके पति सद्दाम हुसैन का इंतजार कर रहे थे। पुलिस टीम पूरी चौकस थी। पहले से तय जगह पर सद्दाम महिला को साथ लिए बिना आया और एडवांस पैसे की मांग की। तब पुलिस ने उसे मात्र 10 हजार दिए और उसका पीछा करना शुरू कर दिया। जब वह महिला के पास पहुंचा तो पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। महिला को जब पूरी घटना की जानकारी हुई तो वह हैरान रह गई। महिला की काउंसलिंग कर नारी निकेतन भेज दिया गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App