ताज़ा खबर
 

पीएम नरेंद्र मोदी के भाई ने खोले उनके कई राज, कहा- घास-फूस खाकर कर रहे देश की सेवा

गुजरात के गांधी नगर में सूचना विभाग के उपायुक्त पंकज ने साहू समाज का आह्वान किया कि सिर्फ राजनीति ही नहीं, बल्कि अन्य क्षेत्रों में भी बढ़-चढ़ कर योगदान देना है।

Author April 9, 2017 6:14 PM
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक कार्यक्रम में मौजूद लोगों का अभिवादन करते हुए। (फाइल फोटो)

छत्तीसगढ़ प्रदेश साहू संघ के अभिनंदन समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के छोटे भाई पंकज मोदी ने संगठन और एकता पर बल दिया और कहा कि उनके बड़े भाई नरेंद्र मोदी घास-फूस खाकर देश की सेवा कर रहे हैं। गुजरात के गांधी नगर में सूचना विभाग के उपायुक्त पंकज ने साहू समाज का आह्वान किया कि सिर्फ राजनीति ही नहीं, बल्कि अन्य क्षेत्रों में भी बढ़-चढ़ कर योगदान देना है। विशेषकर कन्या भ्रूणहत्या रोकने और कन्या शिक्षा पर। शनिवार की शाम शहर के एक होटल में आयोजित समारोह में पंकज मोदी का भव्य स्वागत हुआ। उन्होंने अपने भाषण में कहा, “यहां राजनीति में भागीदारी बढ़ाने की बात हो रही है, लेकिन मैं राजनीति से नहीं हूं। हमें राजनीति के अलावा दूसरे क्षेत्रों में भी अपनी सक्रियता बढ़ानी होगी।” उन्होंने कहा, “नरेंद्र मोदी राजनीति में आए तो सीधे मुख्यमंत्री बने, लेकिन उसके पहले का उनका जीवन कैसा था, यह देखा जाना चाहिए। गौर किया जाना चाहिए कि उन्होंने सेवाकार्य में कितना योगदान दिया और कौन-कौन से कष्ट झेले। राजनीति के अलावा ऐसे बहुत से क्षेत्र हैं, जहां हम समाज को बदल सकते हैं।”

पंकज ने गुजरात के कारडीय राजपूत समाज का जिक्र करते हुए बताया, “इस समाज के लोगों का विभिन्न क्षेत्रों में प्रभुत्व है। पहले लगता था कि इनमें कुछ मिलीभगत है, लेकिन बाद में पता लगा कि इस समाज के लोगों ने अपने बच्चों के लिए शैक्षणिक अकादमियां खोल रखी हैं। जहां बच्चे के रुझान के अनुसार उसे मार्गदर्शन दिया जाता है। हमें भी ऐसे ही करने की जरूरत है।” उन्होंने कहा कि झारखंड में तैलिक समाज के लोग बेहद गरीबी में हैं और उनकी तुलना में छत्तीसगढ़ में इस समाज की आर्थिक स्थिति बहुत अच्छी है।

जब राहुल गांधी ने की नरेंद्र मोदी की मिमिक्री; अमिताभ बच्चन स्टाइल में किया नोटबंदी का ऐलान, देखें वीडियो ः

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App