ताज़ा खबर
 

फकीर प्रधानमंत्री पहनते हैं 10 लाख का सूट, घूमते हैं पूरी दुनिया, देश का PM इतना सस्ता नहीं बिका: केजरीवाल

केजरीवाल ने कहा- मोदीजी, आप फ़क़ीर? रोज़ 4 जोड़ी नए कपड़े बदलते हो, 10 लाख का सूट, पूरी दुनिया घूमते हो? अब आपकी ऐसी बातों पर लोगों का विश्वास ख़त्म हो गया।
Author नई दिल्ली | December 4, 2016 02:44 am
लखनऊ: महारैली में मंच में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को जगह देना भूली पार्टी।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर उनकी फकीर टिप्पणी के लिए कटाक्ष किया और कहा कि प्रधानमंत्री खुद को फकीर कहते हैं लेकिन 10 लाख रुपए का सूट पहनते हैं और दुनिया भर में घूमते हैं। केजरीवाल ने ट्वीट किया, ‘मोदीजी आप फकीर हैं? हर दिन आप कपड़ों की चार नयी जोड़ी पहनते हैं, आप 10 लाख रुपए का सूट पहनते हैं और दुनिया भर में घूमते हैं। लोगों का आपके शब्दों में भरोसा खत्म हो गया है’। मुरादाबाद में शनिवार को एक रैली में मोदी ने कहा कि कालाधन रखने पर कार्रवाई के लिए उन्हें निशाना बनाया जा रहा है। मोदी ने कहा, ‘मेरा पीछा किया जा रहा, क्या मैंने भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई छेड़कर अपराध किया। लेकिन मेरे विरोधी मेरा क्या कर सकते हैं? मैं एक फकीर हूं…झोला लेकर चले जाएंगे’। दूसरे ट्वीट में उन्होंने मोदी पर संस्थानों को खत्म करने का आरोप लगाया और कहा कि देश ने 65 साल में जो हासिल किया उसे आप अगले पांच साल में बर्बाद कर देंगे। केजरीवाल ने ट्वीट किया, ‘ये प्रधानमंत्री एक-एक कर आरबीआइ, सीबीआइ, विश्वविद्यालय और अब न्यायपालिका को खत्म कर रहे हैं। भारत ने 65 साल में जो हासिल किया उसे पांच साल में आप बर्बाद कर देंगे’।

 

 

देश को नकद लेनदेन से मुक्ति दिलाने का आहवान करते हुए मोदी ने मुराबाद में मोबाइल के जरिए खरीद फरोख्त करने का सुझाव दिया और नौजवानों से अपील की कि वे देशवासियों को मोबाइल के जरिए लेनदेन करना सिखायें। उन्होंने यहां भाजपा की परिवर्तन यात्रा के तहत आयोजित जनसभा में कहा, ‘आपने वो सरकारें अब तक देखी हैं जो अपने लिए काम करती हैं। अपनों के लिए करने वाली सरकारें बहुत आयीं। आपके लिए करने वाली सरकार भाजपा ही हो सकती है।’ मोदी ने कहा, ‘इस देश को भ्रष्टाचार ने बर्बाद किया है। इस देश को भ्रष्टाचार ने लूटा है। गरीब का सबसे ज्यादा नुकसान किया है। गरीब का हक छीना है। हमारी सभी मुसीबतों की जड़ में भ्रष्टाचार है। कानून का उपयोग करके बेईमान को ठीक करना होगा। भ्रष्टाचार को ठिकाने लगाना होगा।’ उन्होंने पूछा, ‘अगर कोई ये काम करता है तो वह गुनाहगार है क्या? कोई भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ता तो गुनाहगार है क्या? मैं हैरान हूं कि आजकल मेरे ही देश में कुछ लोग मुझे गुनाहगार कह रहे हैं। क्या मेरा यही गुनाह है कि भ्रष्टाचार के दिन पूरे होते जा रहे हैं? क्या यही मेरा गुनाह है कि गरीबों का हक छीनने वालों को अब हिसाब देना पड़ रहा है?’

मोदी बोले, ‘हिन्दुस्तान की पाई-पाई पर अगर किसी का अधिकार है तो सवा सौ करोड़ देशवासियों का है। मैं आपके लिए लड़ाई लड़ रहा हूं। ज्यादा से ज्यादा (विरोधी) मेरा क्या कर लेंगे? हम तो फकीर आदमी हैं, झोला लेकर चल पड़ेंगे। ये फकीरी है, जिसने मुझे गरीबों के लिए लड़ने की ताकत दी है।’ नोटबंदी के फैसले को सही बताते हुए मोदी ने कहा कि गरीबों का हक छीनने वालों को अब हिसाब देना पड़ रहा है। बैंकों का राष्ट्रीयकरण गरीबों के नाम पर हुआ था लेकिन इस देश के आधे से अधिक लोग ऐसे गरीब थे जिन्हें कभी बैंक के दरवाजे तक जाने का मौका नहीं दिया गया। उन्होंने कहा, ‘जब मैंने कहा कि सबसे पहले बैंक में गरीबों का खाता खुलवाउंगा तो लोग मेरा मजाक उड़ा रहे थे। बड़े-बड़े लोग अपनी पाकेट में कार्ड रखते हैं। कुछ लोगों की जेब में तो पांच पांच दस दस कार्ड होते हैं। हमने 20 करोड़ गरीबों को रूपे कार्ड दे दिया। अगर इस देश के गरीब को ताकत दी जाए तो गरीबी खत्म हो जाएगी।’ मोदी ने कहा कि पहले नोटें छपती थीं और महंगाई बढ़ रही थी और नोटों के बंडल कहीं छिप जाते थे। ‘मैं अभी पीछे लगा हूं … निकालो आ रहा है … आपने देखा होगा कोने कोने से। कुछ लोग तो गरीबों के पैर पकड़ रहे हैं। ऐसा करो कि मेरा दो तीन लाख रुपये खाते में डाल दो। कभी किसी अमीर को गरीब के पैर पकड़ते नहीं देखा था। आज जिन बेईमान लोगों ने पैसा जमा किया है वो गरीबों के घर पर भी कतार लगाकर खड़े हैं। बैंक के बाहर तो वो कतार लगाता है जिसमें ईमानदारी का माद्दा होता है। बेईमान गरीबों के घर के बाहर चोरी चुपके कतार लगाये हुए हैं।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. A
    Abu talib
    Dec 4, 2016 at 7:33 am
    लोकतंत्र एक ऐसी व्यवस्था है जिसमें खोटे सिक्के बार बार चल जाते हैं ! झूठे के आगे सच्चा रोये ! अटल जी नाकाम, मोदी कामयाब ! मोरारजी नाकाम, इंदिरा कामयाब ! और अगर आप समझते हैं कि पश्चिम में बहुत कामयाब लोकतंत्र है तो आपकी भूल है ! गोर से देखने पर यह निज़ाम भी खोखला मिलेगा !
    (1)(0)
    Reply
    1. A
      Alaknada singh
      Dec 4, 2016 at 9:55 am
      Apne desh ki bhi koi garima maan sammaan h ki nhi kejriwal ji ki desh ka pm apko dikhane ke liye fate kapdo me videsh daura kare ..ek pm pire desh ka pratinidhitva krta h ..Ap delgi sambhaliye desh ko modi ji ko sambhalne digiye
      (1)(2)
      Reply
      1. A
        Abu talib
        Dec 4, 2016 at 12:35 pm
        गाँधी भी कोई था हाँ जी जिसे महात्मा कहते हैं !
        (1)(0)
        Reply
      2. D
        Deepak Bhatt
        Dec 4, 2016 at 8:42 am
        कपडा बदलना कब से पाप है भाई तुम तो एक ही कपडे़ में रहते होगे केजरी के छोटे भाई जी
        (0)(0)
        Reply
        1. D
          Deepak Bhatt
          Dec 4, 2016 at 8:51 am
          केजरी जी आप तो इतने गिर जाओगे पता नही था सीएम बन गये तो पीएम के ख्बाव देखने लग गये परन्तु ये सब करके कुछ नही मिलने वाला हर बात पर राजनीति कभी राष्टनीति भी कर लो लगता है मोदी जी ने आपकी नीद उडा दी है तभी दिन रात मोदी मोदी लगे रहते हो, तुच्छ राजनेता
          (1)(2)
          Reply
          1. D
            Deepak Bhatt
            Dec 4, 2016 at 8:45 am
            मोदी से इतना डर क्यो भाई देश के लिए किसने क्या किया बताओ तो
            (0)(0)
            Reply
            1. A
              ankit gupta
              Dec 4, 2016 at 3:27 am
              pm kya nanga घूमेगाTune dehli ke liye kya kiya Chal bata
              (3)(0)
              Reply
              1. J
                joil
                Dec 4, 2016 at 4:53 pm
                वो सब तो ठीक है, लेकिनसीता हरण के समय भी #रावण#फ़कीर होने का ही वास्ता दे रहा था!
                (1)(0)
                Reply
                1. Kamlesh Kumar Mishra
                  Dec 4, 2016 at 12:12 pm
                  इस केजरीवाल को मोदीजी का सूट बहुत परेशान कर रहा है इस बेचारे को भी थोड़ी देर वो सूट पहनने को दे दिया जाता तो इसकी भी मुराद पूरी हो जाती . अरे मूर्ख फकीरी का यही तो मतलब होता है की सबकुछ होते हुए भी उसमे मोह न होना . जब तुम्हारे पास कुछ है ही नहीम तो तुम काहे के फ़कीर हो . भिखारी हो . मोदी बिकलहारी नहीं फ़कीर है जो सब कुछ रखता है और सब कुछ छोड़ भी सकता है . लेकिन इस बिचारे गरीब दिमाग में यह बात कहाँ घुसने वाली है .
                  (0)(2)
                  Reply
                  1. M
                    manoj
                    Dec 4, 2016 at 1:37 am
                    ६५ साल में मिला क्या है केजरीवाल जी ? सारी समस्याएं जो आज राहुल गाँधी गिनाते हैं आप के साथ ? आप कांग्रेस की एजेंट है यह तो अंदाज था पर इस कदर नंगे हो कर केजरीवाल कांग्रेस के साथ दिखेंगे सोचा नहीं था ? खैर देश सिर्फ मोदी पर ही भरोसा है अभी उत्तर प्रदेश में साफ़ हो जायेगा .
                    (1)(0)
                    Reply
                    1. A
                      Asi
                      Dec 4, 2016 at 6:23 am
                      मोदी आदानी, अम्बानी का दलाल है
                      (0)(1)
                      Reply
                      1. Load More Comments