ताज़ा खबर
 

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में लगे बाबरी मस्जिद दोबारा बनवाने की मांग वाले पोस्टर

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी एक बार फिर विवादों के केन्द्र में आ गई है। दरअसल एएमयू में बाबरी मस्जिद को फिर से बनाने की शपथ लेने वाले पोस्टर्स दिखाई दिए हैं।

Author December 7, 2018 8:18 AM
अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी। (Express File Photo)

अयोध्या में बाबरी मस्जिद गिराए जाने की 26वीं बरसी पर गुरुवार को यूपी स्थित अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी परिसर में कई पोस्टर नजर आए। इन पोस्टरों में ‘बाबरी मस्जिद दोबारा बनवाने की प्रतिज्ञा लेने’ और ‘अन्याय के खिलाफ खड़े होने’ आदि की बात की गई थी। इनपर ‘स्टूडेंट्स’ असोसिएशन फॉर इस्लामिक आइडियोलॉजी, एएमयू यूनिट का नाम है। पोस्टरों पर लिखा है, ‘मस्जिद मस्जिद है और आखिरी वक्त तक रहेगी।’ इन पोस्टरों में कुरान की आयतों का भी जिक्र है। एएमयू के मीडिया इंचार्ज एम शफी किदवई का कहना है कि चूंकि ये पोस्टर बिना इजाजत और पाठ्य सामग्री वेरिफाई करवाए बिना लगवाए गए हैं, इसलिए यूनिवर्सिटी के प्रॉक्टर के आदेश पर इन्हें हटा दिया गया है।

किदवई के मुताबिक, इन पोस्टरों के बारे में जानकारी सुबह 11 बजे के करीब मिली। उनका यह भी कहना है कि इस संगठन के बारे में पहली बार सुना गया है। इस मामले में आगे क्या एक्शन लिया जाएगा, यह पूछने पर उन्होंने कहा, ‘पोस्टर में किसी का नाम या कॉन्टैक्ट नंबर का जिक्र नहीं है। इसके अलावा, किसी ने कोई आपत्ति भी दर्ज नहीं कराई है।’

amu में लगा विवादित पोस्टर।

हालांकि, एएमयू के एक पीएचडी स्टूडेंट मुबाशिर ने कहा कि उन्होंने इन पोस्टरों को लगवाया ताकि ‘लोगों को बाबरी मस्जिद की याद दिलाईे जा सके और यह सुनिश्चित किया जा सके कि आने वाली पीढ़ियां इसे न भूलें।’ यह स्टूडेंट खुद को स्टूडेंट्स असोसिएशन फॉर इस्लामिक आइडियोलॉजी, एएमयू यूनिट का मीडिया इंचार्ज भी बताता है। मुबाशिर ने कहा, ‘हम अयोध्या में बाबरी मस्जिद दोबारा से बनवाने का समर्थन करते हैं। हमारा संगठन अलीगढ़ का है और इसके लखनऊ, आजमगढ़, अयोध्या और संभल में केंद्र हैं। हमारे संगठन के 300 सदस्य हैं। अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में हमारे 20 सक्रिय सदस्य हैं।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App