ताज़ा खबर
 

किसान सम्मान निधि को विपक्ष ने कहा बेकार, वित्त मंत्री बोले- एसी कमरों में बैठने वाले नहीं समझ सकते दर्द

लोकसभा चुनाव से पहले केंद्र सरकार के इस आखिरी बजट को जहां बीजेपी ने ऐतिहासिक बजट करार दिया है तो वहीं मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस ने इसे छलावा बताया है।

Budget 2019 vs Budget 2018 Income Tax Slab Rate: पीयूष गोयल Express pictures by Praveen Khanna

Budget 2019: लोकसभा चुनाव से पहले मोदी सरकार ने इस साल के बजट में किसानों के लिए बड़ा ऐलान करते हुए प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना की शुरुआत की है। वित्त मंत्री ने इस योजना को ऐतिहासिक बताते हुए कहा कि एसी कमरों में बैठने वाले लोग किसानों का दर्द नहीं समझ सकतें हैं। लेकिन सरकार के इस बजट पर विपक्ष ने जमकर हमला बोला हैं। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा कि बीजेपी सरकार ने पिछले पांच सालों में देश के किसानों की दुर्दशा हुई है। साथ ही उन्होंने कहा कि इस योजना के तहत किसानों को 17 रुपए सालाना मिलेंगे जो कि किसानों का अपमान है। इसके अलावा एमपी के सीएम कमलनाथ ने इसे जुमला और छलावा बताया है तो पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने इसे पूरी तरह से चुनावी बजट करार दिया है।

बता दें कि वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने बजट में किसानों के लिए बड़ा ऐलान करते हुए छोटे और सीमांत किसानों को 6000 रुपए प्रतिवर्ष देने की बात कही है। जिसके बाद प्रेसवार्ता के दौरान गोयल ने कहा कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत किसानों को राहत देना एक ऐतिहासिक फैसला है। लेकिन इस दौरान विपक्ष ने सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। वरिष्ठ कांग्रेस नेता शशि थरूर ने सरकार के इस फैसले को चुनावी जुमला करार दिया है।

कमलनाथ ने कहा- ‘आज पेश आम बजट पूरी तरह से चुनावी बजट होकर जुमला व छलावा साबित होगा। मोदी सरकार के इस आखिरी बजट से भी अच्छे दिन की उम्मीद ख़त्म हो गयी कार्यकाल के अंतिम समय में किसान,गरीब, मज़दूर, गौमाता की याद आयी। किसानो के लिये घोषित राशि ऊँट के मुँह में ज़ीरा के समान है।’

क्या बोले चिदंबरम- पूर्व वित्त मंत्री और कांग्रेस नेता पी चिदंबरम ने मोदी सरकार के बजट को अपनी पार्टी की कॉपी करार देते हुए ट्वीट में लिखा, “अंतरिम बजट में में कांग्रेस की कॉपी करने के लिए शुक्रिया, जिसने इस बात की घोषणा की कि देश के संसाधनों पर पहला अधिकार गरीब लोगों का है।” आगे उन्होंने कहा, यह वोट ऑन एकाउंट नहीं बल्कि, एकाउंट ऑन वोट्स था।

क्या बोले शशि थरूर- उन्होंने कहा, ‘इस बजट में एक ही अच्छी चीज है इनकम टैक्स में छूट की, लेकिन सरकार 500 रुपये किसानों के खाते में डालेगी। सम्मान से जीने के लिए इतनी रकम काफी है?’

क्या बोले छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री- मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भी केंद्र सरकार के इस बजट पर निशाना साधते हुए ट्वीटर पर पोस्ट कर केंद्र सरकार के बजट को ‘जुमला बुलेट एक्सप्रेस’ करार दिया है। उन्होंने लिखा, 2014 की ‘जुमला-एक्सप्रेस’ के बाद, 2019 में “जुमला-बुलेट-एक्सप्रेस”!! अगले 5 साल में 1 लाख डिजिटल विलेज बनायेंगे, पिछले 5 साल में कितने स्मार्ट सिटी बनायें? नौकरी मांगने वाले नौकरी दे रहें है,-पर कहां? (NSSO के अनुसार बेरोजगारी दर पिछले 45 साल में सबसे ज्यादा)।

राजनीतिक विश्लेषकों की माने तो कांग्रेस के कर्जमाफी के जवाब में केंद्र सरकार ने ‘प्रधानमंत्री किसान योजना’ की शुरुआत की है। इस योजना के तहत किसानों को हर साल 6000 रुपये की सहायता प्रत्यक्ष लाभ अंतरण (डीबीटी) के जरिये किसानों के बैंक खाते में दी जाएगी। बता दें कि यह राशि किसानों को 2000-2000 रुपये की तीन किस्तों में दी जाएगी। पहली किस्त अगले महीने की 31 तारीख तक किसानों के खातों में पहुंचा दी जाएगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App