ताज़ा खबर
 

Video: खतरा मोल लेकर स्कूल जाते बच्चे, सड़क पर खिसक रही है चट्टान

पहाड़ों में अगर सड़कें क्षतिग्रस्त हो जाए तो पूरी की पूरी रोड कनेक्टिविटी पर इसका असर असर पड़ता है।

Author उच्छैती | July 17, 2019 8:23 PM
स्कूल जाते बच्चे। फोटो: ANI

बारिश की वजह से कई राज्यों में आम-जीवन अस्त-व्यस्त है। असम और बिहार में बाढ़ से 55 और उत्तर प्रदेश में वर्षा जनित हादसों में 14 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं उत्तराखंड में भी बारिश ने तबाही मचाई हुई है। यहां भूस्खलन की वजह से आम जीवन पर बुरा प्रभाव पड़ा है। मानसून की बारिश ने गांव और शहरों को जोड़ने वाली 91 सड़कों पर वाहनों की रफ्तार रोक दी है। यहां पिथौरागढ़ के उच्छैती से स्कूल के बच्चों का एक वीडियो सामने आया है। वीडियो में वह बारिश के बाद मची तबाही के बाद बुलंद हौंसलों के साथ स्कूल की तरफ पैदल जा रहे हैं।

वीडियो में देखा जा सकता है कि स्कूल के छात्र-छात्राएं किस तरह खतरा मोल लेकर स्कूल की तरफ जा रहे हैं। रास्ते में भूस्खलन के बाद बड़े-बड़े पत्थर पड़े हुए हैं। और सड़क पर चट्टानें खिसक रही हैं। पहाड़ों में अगर सड़कें क्षतिग्रस्त हो जाए तो पूरी की पूरी रोड कनेक्टिविटी पर इसका असर असर पड़ता है।

बता दें कि पिछले 15 दिनों से राज्य में लगातार बारिश की वजह से 524 सड़के बंद हो गई। जिसके बाद जेसीबी मशीनों के द्वारा 400 से ज्यादा सड़कों को फिर से खोल दिया गया। बुधवार (17 जुलाई 2019) को भी राज्य में बारिश का सिलसिला जारी रहा। पर्वतीय जिलों में भारी बारिश देखने को मिली।

कीचड़ में फंसी एंबुलेंस में मां ने दिया बच्चे जन्म: पिथौरागढ़ में मदकोट से मुनस्यारी जा रही एंबुलेंस कीचड़ में फंस गई। एंबुलेंस गर्भवती को अस्पताल लेकर जा रही थी। एंबुलेंस आगे नहीं जा पाई। इस दौरान महिला को एंबुलेंस स्टाफ की मदद से प्रसव कराया गया। महिला ने बच्चे को जन्म दिया। मां और बच्चे दोनों स्वस्थ हैं। इसके बाद 108 नबंर पर कॉल कर वहां दूसरी एंबुलेंस को बुलाया गया जो महिला और बच्चे को अस्पताल लेकर गए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 AIIMS की लंबी वेटिंग लिस्टः दिल की सर्जरी के लिए मिली 6 साल बाद की तारीख
2 केंद्र सरकार का डीडीए और डूसिब को फरमान, कहा- पीएम आवास योजना के योग्य लोगों को जल्द दें मकान
3 मनाली: हरियाणा के छोरे को भारी पड़ा सेल्फी का क्रेज, नदी में गिरा, बमुश्किल बची जान