ताज़ा खबर
 

लोगों के विरोध से अटका अडानी का छत्तीसगढ़ बिजली संयंत्र

अडानी समूह के छत्तीसगढ़ के सरगुजा जिले में 600 मेगावाट क्षमता के बिजलीघर के रास्ते में बाधा खड़ी हो गई है। करीब 10 गांव के लोगों ने परियोजना का विरोध करने का फैसला किया है..

Author रायपुर | Published on: December 27, 2015 11:00 PM
चित्र का इस्तेमाल सिर्फ प्रतीक के तौर पर किया गया है। (प्रतीकात्मक चित्र)

अडानी समूह के छत्तीसगढ़ के सरगुजा जिले में 600 मेगावाट क्षमता के बिजलीघर के रास्ते में बाधा खड़ी हो गई है। करीब 10 गांव के लोगों ने परियोजना का विरोध करने का फैसला किया है जिससे इस मामले में होने वाली जन सुनवाई स्थगित हो गई है। ये वे लोग हैं जिनकी जमीन परियोजना के लिए ली गई है। बिजली संयंत्र स्थापित करने को लेकर 30 दिसंबर को होने वाली सुनवाई स्थगित हो गयी है और जिला कलेक्टर ने कहा है कि इसके लिए कोई नई तारीख तय नहीं की गई है। अडानी समूह 150 मेगावाट क्षमता की चार इकाइयां लगा रहा है।

यह परियोजना अडानी माइनिंग की शत प्रतिशत अनुषंगी इकाई सरगुजा पावर सरगुजा के उदयपुर ब्लॉक में परसा पूर्व और केटे बसान कोयला ब्लॉक के पास लगा रही है। दोनों कोयला ब्लॉक में एक करोड़ टन कोयला भंडार अनुमानित है। परियोजना का निर्माण 47.5 हेक्टेयर जमीन पर किया जाना है।

पिछले सप्ताह ग्रामीणों के एक प्रतिनिधिमंडल ने सरगुजा के कलेक्टर को पत्र दिया जिसमें संयंत्र को लेकर 30 दिसंबर को होने वाली जन सुनवाई रद्द करने की मांग की गई थी। मामले के बारे में पूछे जाने पर कलेक्टर ऋतु सेन ने कहा कि जन सुनवाई स्थगित हो गई है।

कलेक्टर ने कहा, ‘विभिन्न कारणों से सरगुजा बिजली संयंत्र को लेकर होने वाली जनसुनवाई स्थगित हो गई है। केवल ग्रामीणों की उसे रद्द करने की मांग के आधार पर यह निर्णय नहीं किया गया है।’इस बारे में अडानी समूह के प्रवक्ता ने कुछ भी कहने से इनकार कर दिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories