ताज़ा खबर
 

राहुल की किसान यात्रा से कार्यकर्ताओं में जोश

कांग्रेस के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राहुल गांधी जिले में दो दिन की किसान यात्रा और रोड शो के दौरान पार्टी कार्यकताओं में जोश भर गए हैं।

Author नई दिल्ली | September 9, 2016 2:39 AM
कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी

कांग्रेस के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राहुल गांधी जिले में दो दिन की किसान यात्रा और रोड शो के दौरान पार्टी कार्यकताओं में जोश भर गए हैं। इससे भाजपा, बसपा और समाजवादी पार्टी में बेचैनी भी बढ़ गई है। राहुल गांधी ने बुधवार देर शाम करीब सात बजे संतकबीर नगर की अपनी यात्रा खत्म कर कांटे के पास जिले की सीमा में प्रवेश कर काफिले के साथ सीधे मुंडेरवा स्थित शहीद स्थल पहुंच कर 2002 के गन्ना आंदोलन के दौरान शहीद तीन किसानों की प्रतिमाओं पर माल्यार्पण किया और जिला मुख्यालय के लिए रवाना हो गए। कांटे से डाक बंगले के बीच 20 किलोमीटर के रास्ते में जहां कार्यकर्ताओं ने जगह-जगह पार्टी झंडे को लहरा कर गरमजोशी से राहुल गांधी का स्वागत किया। वहां सड़कों के किनारे खड़े लोग उनकी एक झलक पाने को बेताब दिखे। इस दौरान राहुल गांधी लोगों का अभिवादन स्वीकार करते और कुशलक्षेम पूछते हुए बिना गाड़ी से उतरे डाक बंगले पहुंच गए।

राहुल गांधी ने गुरुवार को 50 किलोमीटर के अपने दौरे की शुरुआत आचार्य रामचंद्र शुक्ल की प्रतिमा पर माल्यार्पण के बाद शहर में हुए छह किलोमीटर लंबे रोड शो से की। इस दौरान उन्होंने लाल बहादुर शास्त्री, जवाहर लाल नेहरू, भगत सिंह और महात्मा गांधी प्रतिमाओं पर माल्यार्पण भी किया। रोड शो में जहां कार्यकर्ताओं ने गरमजोशी से हिस्सा लिया। राहुल गांधी की यह यात्रा दोपहर बाद जिले की सीमा पार कर गोंडा के डुमरियां डीह के लिए रवाना हो गई। इससे पहले उन्होंने हर्रैया के स्वतंत्रता सेनानी राम रतन पाठक के परिजनों से मुलाकात की और दलित बस्ती खटिकहिया में कमला देवी के हाथों बना खाना भी खाया। राहुल गांधी ने बाद में छावनी स्थित शहीद स्थली पर जाकर पुष्पांजलि अर्पित की।

पिछले विधानसभा चुनाव के दौरान जिले की पांच विधानसभा सीटों में से हर्रैर और महादेवा में समाजवादी पार्टी, बस्ती और कप्तानगंज सीटों पर बहुजन समाज पार्टी जबकि रुधौली सीट पर कांग्रेस ने जीत दर्ज की थी। रुधौली सीट से जीते उम्मीदवार संजय जायसवाल अब भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो चुके हैं। मौजूदा समय में पांचों विधानसभा सीटों पर पार्टी टिकट दावेदारों की लंबी कतार नजर आ रही है जो राहुल गांधी के भरोसे अपनी चुनावी वैतरणी पार करने के सपने देखने में जुटे हैं। किसानों की बदहाली पर फोकस कर शुरू की गई यह किसान यात्रा किसानों के बीच पार्टी की पैठ बनाने में कितनी कामयाब साबित होगी, अभी यह कहना मुश्किल है। हालांकि इस यात्रा से अन्य राजनीतिक दलों की बेचैनी जरूर बढ़ गई है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App