ताज़ा खबर
 

पटना: ट्रैफिक जाम पर HC के जज की तल्ख टिप्पणी, कहा- आधे घंटे में जाम से मुक्त हो जाएं तो खुद को समझिये भाग्यशाली

पटना हाईकोर्ट ने पटना की सड़कों, फुटपाथ और फ्लाईओवर के नीचे अतिक्रमण को लेकर दायर एक जनहित याचिका की सुनवाई के दौरान तल्ख टिप्पणी की है।

इस तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीकात्मक तौर पर किया गया है। (एक्सप्रेस फाइल फोटो)

पटना हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस अमरेश्वर प्रताप शाही ने पटना में ट्रैफिक जाम को लेकर तल्ख टिप्पणी की है। उन्होंने कहा है, ‘यहां रोड ट्रैफिक कल्पनातीत है…अगर आप आधे घंटे में ट्रैफिक जाम से मुक्त हो जाते हैं, खुद को भाग्यशाली समझिये।’ चीफ जस्टिस ने यह टिप्पणी पटना की सड़कों, फुटपाथ और फ्लाईओवर के नीचे अतिक्रमण को लेकर दायर एक जनहित याचिका की सुनवाई के दौरान की। उन्होंने कहा कि स्थिति (ट्रैफिक की) खराब है। गाड़ी ले जाना तो दूर सड़कों से लोगों का पैदल चलना भी मुश्किल हो गया है। उन्होंने अतिक्रमण को लेकर राज्य सरकार से पूछा कि इसको लेकर सरकार ने क्या किया। इस मामले में पटना नगर निगम और राज्य सरकार से जवाब तलब किया गया है।

अतिक्रमण को लेकर चीफ जस्टिस की यह कोई पहली टिप्पणी नहीं है। इससे पहले चीफ जस्टिस राजंद्र मेनन ने भी पटना में अतिक्रमण को लेकर तीखी बात कही थी और राज्य सरकार से पूछा था कि इसे हटाने के लिए क्या कार्रवाई हुई। खराब सड़क पर भी कर चुके हैं टिप्पणी उल्लेखनीय हो कि इससे पहले रोड की हालत को लेकर भी चीफ जस्टिस तल्ख बयान दे चुके हैं।

चीफ जस्टिस अमरेश्वर प्रताप शाही बीते दिनों बिहार की खराब सड़क को लेकर अपनी टिप्पणी को लेकर भी टिप्पणी की थी। वह जनवरी के शुरू में नेशनल हाईवे 106 से होकर गुजर रहे थे। सड़क की हालत खराब होने पर काफी नाराज दिखे थे। उन्होंने कहा था, ‘राष्ट्रीय राजमार्ग 106 पर यात्रा करते हुए लगा कि सड़क नहीं वैतरणी पार कर रहे हैं।’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Gujarat: शुरू हुआ फ्लावर शो 2019, एक लाख 10 हजार स्क्वायर मीटर में है फैला, देखने को मिलेंगे 750 से अधिक प्रकार के फूल
2 वाराणसी में प्रवासी भारतीय सम्मेलन के लिए लगे पीएम- सीएम के पोस्टर फाड़ रहा था युवक, पुलिस ने मौके से पकड़ा
3 BHU में पढ़ाई का सुनहरा मौकाः अब घर बैठे ही कर सकेंगे कोर्स, पढ़ाई से परीक्षा तक सब ऑनलाइन