अस्पताल के दो कर्मचारी मरीज को जबरन खाली कमरे में ले गए और किया बलात्कार - Jansatta
ताज़ा खबर
 

अस्पताल के दो कर्मचारी मरीज को जबरन खाली कमरे में ले गए और किया बलात्कार

गुड़गांव के नजदीक मेवात के मेडीकल कॉलेज अस्पताल (SHKM) में भर्ती महिला मरीज से रेप का मामला सामने आया है। महिला की 22 साल बताई जा रही है जो तीन बच्चों की मां है।

प्रतीकात्मक तस्वीर

गुड़गांव के नजदीक मेवात के मेडीकल कॉलेज अस्पताल (SHKM) में भर्ती महिला मरीज से रेप का मामला सामने आया है। महिला की 22 साल बताई जा रही है जो तीन बच्चों की मां है। इस हरकत को अंजाम देने का आरोप मेडिकल कॉलेज की सुरक्षा में लगे चार गार्डों पर है। पीड़ित महिला बीबा गांव की रहने वाली है, जो 1 जून से मेडिकल कॉलेज नल्हड के सामान्य चिकित्सा विभाग के महिला वार्ड में दाखिल थी।

इस दौरान महिला के साथ अस्पताल में उसके जीजा और बहन भी मौजूद थी। लेकिन सोमवार देर रात महिला परिजन भी बाहर लॉबी में सोए हुए थे और महिला अपने बेड पर थी। परिजानों के सो जाने के फायदा उठाते हुए रात के समय वॉर्ड में तैनात एक गार्ड ब्यॉय महिला के पास आया कहा कि आपका बेटा रो रहा है। इसके बाद महिसा पेशेंट को लगा कि शायद गार्ड सच बोल रहा है और वो उसके कहने पर वार्ड के बाहर आई और जब लॉबी में पहुंची तो गार्ड ने उसका जोर से हाथ पकड़ा और जबरन कमरे में ले गया।

बता दें इस कमरे में पहले से ही वहां दो गार्ड मौजूद थे। बाद सभी गार्डों ने कमरा कर रेप किया। इस घटना के बाद महिला बेहोश हो गई, लिहाजा जब जागी तो उसे इस घटना के बारे में कुछ भी ज्ञात नहीं। इसी बीच महिला के परिजन भी वहां मौजूद नहीं दिखे। मेडीकल में यहां-वहां देखने पर सिर्फ एक चुनरी मिली। बाद में पीड़ित महिला ने सुबह होते ही इसकी शिकायत महिला पुलिस थाना नूंह को दी। इसमें 2 गार्डों रेप करने का आरोप लगाया गया है।

मेवात के बीवां गांव की रहने वाली एक महिला 1 जून से मेडिकल कॉलेज नल्हड के सामान्य चिकित्सा विभाग महिला वॉर्ड में भर्ती थीं। उनकी उम्र करीब 22 साल बताई जा रही है और उनके तीन बच्चे हैं। महिला के साथ अस्पताल में उनकी बहन और जीजा मौजूद थे। सोमवार देर रात महिला की बहन व जीजा वॉर्ड के बाहर लॉबी में सोए थे। महिला भी अपने बेड पर थीं। रात के समय वॉर्ड में तैनात एक गार्ड उसके पास आया और उससे कहा कि उनका बेटा रो रहा है।

डीएसपी शकुंतला ने बताया कि मामले में कौन-कौन शामिल है, इसके लिए मेडिकल कॉलेज के ड्यूटी रोस्टर को खंगाला जा रहा है। पीड़िता का मेडिकल बोर्ड से जांच कराई गई। FSL रिपोर्ट आने के बाद ही पता लगेगा कि महिला के साथ रेप हुआ है या नहीं।

वहीं, मेडिकल कॉलेज के निदेशक डॉ. संसारचंद शर्मा ने इस वारदात पर गहरा दुखा जताया। उन्होंने कहा कि जब गार्ड ही मरीजों के साथ ऐसा करेंगे तो कौन महफूज रह सकता है। घटना की सूचना मिलते ही मेडिकल कॉलेज के डायरेक्टर ने आरोपियों को तत्काल नौकरी से निकालने के आदेश दिए हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App