ताज़ा खबर
 

अफजल गुरु के बेटे ने कहा- विदेश में पढ़ने के लिए पासपोर्ट चाहिए पर 6 साल से नहीं मिला

अफजल गुरु के बेटे गालिब का आधार कार्ड बन गया है। ऐसे में अब गालिब अब भारतीय पासपोर्ट बनवाकर आगे की पढ़ाई करना चाहता है।

अफजल गुरु का बेटा गालिब ( फोटो सोर्स : फाइनेंशियल एक्सप्रेस )

2001 में संसद पर हमले के आरोपी अफजल गुरु के बेटे गालिब का आधार कार्ड बन गया है। पहली बार आधार बनने के बाद से गालिब बहुत खुश है। NEET की तैयारी कर रहे गालिब का कहना है कि अब कम से कम उसके पास आइडेंटिटी कार्ड के तौर पर आधार कार्ड है। वहीं मीडिया से बात करते हुए गालिब ने बताया कि अब वह इंडियन पासपोर्ट के लिए आवेदन करेगा।

भारत में पढ़ना चाहता है गालिबः जम्मू-कश्मीर के गुलशनाबाद की पहाड़ियों में 18 वर्षीय गालिब अपने नाना गुलाम मोहम्मद और मां तबस्सुम के साथ रहता है। बता दे कि गालिब पांच मई को होने वाले मेडिकल एंट्रेस एग्जाम NEET की तैयारी कर रहा है। वहीं एंट्रेस क्वालिफाई करने के बाद उसने भारत में ही मेडिकल की पढाई करने की इच्छा जताई है। इसके साथ ही मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक भारत में एडमिशन न मिलने पर उसने विदेश में पढ़ने की भी बात कही है। उसने कहा- तुर्की में एक कॉलेज है, जो मुझे स्कॉलरशिप भी दे सकता है। आधार कार्ड के बाद गालिब को अब पासपोर्ट का भी इंतजार है और उसका कहना हैं- मुझे तब और ज्यादा गर्व होगा जब मुझे मेरा पासपोर्ट मिल जाएगा। गालिब का कहना है कि कई कोशिशों के बाद भी उसे पिछले 6 साल से पासपोर्ट नहीं मिल पाया है।

पिता का सपना पूरा करना है: गालिब का बचपन से सपना था कि वह पिता का अधूरा सपना पूरा करे। गौरतलब है कि गालिब के पिता अपना मेडिकल करियर पूरा नही कर पाए थे। जिसके बाद से गालिब को मेडिकल में पढ़ाई पूरी कर पिता के सपने को सकार करना है। गौरतलब है कि 2013 में अफजल गुरु को फांसी हुई थी तब गालिब सिर्फ 2 साल का था।

 

पिता की फांसी के बाद घाटी में था तनाव: संसद पर हमला करने के बाद अफजल गुरु को 2013 में फांसी की सजा सुनाई गई थी। फांसी के बाद पूरी घाटी में तनाव का माहौल बन गया था। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक तनाव के चलते आतंकी संगठनों ने गालिब का माइंड वॉश कर पिता का बदला लेने के लिए भी उसे उकसाया था। लेकिन उसकी मां और पूरा परिवार उसे अच्छी परवरीश दी। जिसके चलते वह आतंकियों के जाल में नहीं फंसा और उसने अपने करियर को प्राथमिकता दी। वहीं करियर की बात पर गालिब कहता है कि वो आज जो भी है अपनी मां की बदौलत है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App