ताज़ा खबर
 

चिक्की खरीद में कोई अनियमितता नहीं: पंकजा

महाराष्ट्र में मंत्री पंकजा मुंडे ने कहा कि जब शिकायत की गई, राज्य सरकार ने चिक्की का वितरण रोक दिया। सिर्फ एक मामले में नमूने में कुछ धूल मिली।

Author मुंबई | April 13, 2016 10:58 PM
महाराष्ट्र की महिला एवं बाल कल्याण मंत्री पंकजा मुंडे। (फाइल फोटो)

महाराष्ट्र में मंत्री पंकजा मुंडे ने राज्य के कई जिलों में जनजातीय स्कूली बच्चों के बीच वितरण के लिए चिक्की की खरीद में अनियमितताओं के आरोप से इनकार किया है। महिला व बाल विकास मंत्री ने विधान परिषद में कांग्रेस सदस्य संजय दत्त के एक सवाल के जवाब में कहा कि गाजियाबाद प्रयोगशाला के साथ-साथ 12 अन्य प्रयोगशालाओं ने भी पुष्टि की है कि ठेकेदार सूर्यकांत द्वारा तैयार चिक्की की गुणवत्ता अच्छी पाई गई। मुंडे पर 206 करोड़ रुपए मूल्य की चिक्की सहित विभिन्न सामग्री की खरीद में अनियमितता का आरोप है। यह आरोप भी लगाया गया है कि आदिवासी छात्रों के बीच वितरण के लिए खरीदी गई चिक्की में मिट्टी का अंश था। साथ ही यह भी आरोप लगाया गया था कि नियमों का उल्लंघन कर इन सामग्री की खरीद की गई।

उन्होंने कहा कि जब शिकायत की गई, राज्य सरकार ने चिक्की का वितरण रोक दिया। सिर्फ एक मामले में नमूने में कुछ धूल मिली। जिन 20 जिलों में चिक्की का वितरण हुआ था, वहां से फफूंद, धातु के टुकड़े आदि मिलने की कोई शिकायत नहीं मिली। मुंडे ने रेखांकित किया कि ठेका सूर्यकांत को दिए जाने का फैसला 2012-13 में पूर्ववर्ती कांग्रेस-राकांपा सरकार के दौरान किया गया था। उन्होंने कहा कि तत्कालीन सरकार ने उसी कंपनी को 30 करोड़ रुपए का ठेका दिया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App