ताज़ा खबर
 

50 साल से मुंबई में रह रहा था यह पाकिस्तानी, अब 10 दिन में मिलेगी भारतीय नागरिकता

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने कोर्ट में कहा कि पिछले 50 साल से अधिक समय से भारत में रह रहे पाकिस्तानी नागरिक को 10 दिनों के भीतर भारतीय नागरिकता मिल जाएगी।

आसिफ कराडिया को मिलेगी भारतीय नागरिकता फोटो सोर्स- ANI

पिछले 50 साल से अधिक समय से भारत में रह रहे एक पाकिस्तानी नागरिक आसिफ कराडिया को बड़ी राहत मिली है। केंद्रीय गृह मंत्रालय के मुताबिक, उसे 10 दिनों में भारतीय नागरिकता दे दी जाएगी। बता दें कि काफी समय चली मुकदमेबाजी और अदालत के कई आदेशों के बाद गृह मंत्रालय ने न्यायमूर्ति एएस ओका और न्यायमूर्ति एमएस संकलेचा की पीठ के समक्ष इस बात की पुष्टि की कि पाकिस्तानी नागरिक आसिफ को भारतीय नागरिकता दी जाएगी।

बता दें कि आसिफ कराडिया (53) के माता-पिता भारतीय मूल के हैं। उन्होंने पिछले साल दिसंबर में उस समय हाईकोर्ट का रुख किया था जब उनके पिछले दीर्घकालिक वीजा (एलटीवी) की अवधि पूरी हो गई थी। इसके अलावा अधिकारियों ने उनका वीजा तब तक बढ़ाने से मना कर दिया था, जब तक कि वह पाकिस्तानी पासपोर्ट पेश न कर दें। पीठ ने मंत्रालय के बयान को उसकी ओर से दिए गए शपथ-पत्र के तौर पर स्वीकार किया और आसिफ की याचिका का निपटारा कर दिया। इसके बाद गृह मंत्रालय के अनुसार आसिफ को भारतीय नागरिकता 10 दिनों के भीतर ही मिल जाएगी।

पढ़ें आज की बड़ी खबरें

आसिफ ने खुद को बताया भारतीय: बकौल आसिफ कराडिया वह लंबे अर्से से भारत में रह रहा है। उन्होंने बताया कि वह एक स्थानीय रेस्टोरेंट में काम करते हैं और एक टैक्स भरने वाले व्यक्ति है। इसके अलावा आसिफ ने कहा कि उनके पास आधार कार्ड, राशन कार्ड, पैन कार्ड और वोटर कार्ड तक है।

पत्नी और बच्चों के पास है भारतीय नागरिकता: बता दें कि आसिफ ने एलटीवी की अवधि पूरी होने के बाद अपने वकील आशीष मेहता और सुजय कांतावाला के जरिए कोर्ट का रुख किया था। इस दौरान आसिफ ने कोर्ट को बताया कि उसके पास न तो पाकिस्तानी पासपोर्ट है और ना ही कोई वैध पहचान पत्र जिसे पड़ोसी देश ने मुहैया करवाया हो। उसने बताया कि वह करांची में पैदा हुआ था। लेकिन वह जब कुछ दिन का ही था तब से मुंबई में रह रहा है। उसकी पत्नी और तीन बच्चे के पास भारतीय नागरिकता है। आसिफ के माता-पिता बंटवारे से पहले गुजरात में रहते थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App