ताज़ा खबर
 

सुषमा स्वराज की मदद से कराची से जोधपुर पहुंची दुल्हन, आज लेगी सात फेरे

दुल्हे के पिता कन्हैया लाल ने साल 2001 में पाकिस्तान की यात्रा की थी तब से उनकी तमन्ना थी उनके बेटे की दुल्हन पाकिस्तानी सिंधी हो।

इस तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

भारत-पाकिस्तान के बीच रिश्तों में तल्खी और दोनों देशों की सीमा पर रोज हो रही गोलाबारी के बीच सभी दूरियों को दरकिनार करते हुए दोनों मुल्क के दो युवा-युवती आज हमेशा-हमेशा के लिए एक-दूजे के लिए होने जा रहे हैं। कराची की प्रिया बच्चाणी की जोधपुर निवासी नरेश तेवाणी के साथ आज (सोमवार को) शादी है। इससे पहले रविवार को जोधपुर में ही इनदोनों की सगाई हुई, दोनों ने एक-दूसरे को अंगूठी पहनाई। इस मौके पर दूल्हा नरेश ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का आभार जताया है। नरेश ने कहा, “हम मंत्रियों के त्वरित प्रतिक्रिया के शुक्रगुजार हैं। परिवार के सभी 35 सदस्यों को वीजा मिल गया और वह जोधपुर आ गए हैं।”

प्रिया भी अपने 30 रिश्तेदारों के साथ रविवार को ही जोधपुर पहुंची। प्रिया ने मीडिया से बातचीत में कहा, “वीजा मिलने में आई अड़चन से घर के सभी लोग काफी निराश हो चुके थे लेकिन मैं बहुत आशावादी हूं। मुझे शुरू से ही विश्वास था कि कोई न कोई राह निकल ही आएगी।” सुषमा स्वराज से की गई अपील के बाद प्रिया और उसके परिजनों को भारत आने का वीजा मिला है।

वीडियो देखिए: इस जोड़े को विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कैसे की मदद

गौरतलब है कि भारत और पाकिस्तान के बीच बढ़ते तनाव के कारण सीमा पार से होने अड़चन के बाद नरेश तेवाणी ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से संपर्क किया था। इस पर सुषमा ने उसे मदद का आश्वासन दिया था। उन्हें चिंता सता रही थी कि उनकी शाद