अमरिंदर सिंह के न्योते पर अक्सर भारत आने वालीं पाकिस्तानी पत्रकार अरूशा बोलीं- दिल टूट गया, अब कभी न जाऊंगी

कैप्टन की पाकिस्तानी महिला दोस्त ने आईएसआई के साथ लिंक पर कहा कि वो 16 सालों से भारत आ रहीं हैं, अब जाकर ये आरोप लग रहे हैं। उन्होंने कहा कि लोग अपने राजनीतिक उद्देश्यों के लिए मेरा नाम घसीट रहे हैं।

aroosa alam, captain, isi relation, punjab congress
अरूशा आलम के साथ कैप्टन अमरिंदर सिंह (फोटो- @AamirMajoka)

पाकिस्तानी दोस्त अरूशा आलम के साथ रिश्ते को लेकर सवालों के घेरे में फंसे कैप्टन अमरिंदर सिंह जहां एक तरफ अपनी सफाई पेश कर रहे हैं, तो वहीं दूसरी ओर उनकी दोस्त ने इन आरोपों को ‘दिल टूटने’ वाला बताया है। पंजाब की राजनीति में इन दिनों कैप्टन-अरूशा विवाद ही छाया हुआ है।

पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमिरिंदर सिंह ने जबसे अपनी पार्टी बनाने की घोषणा कर दी है, तबसे उनके खिलाफ पंजाब कांग्रेस काफी आक्रमक हो गई है। इसी क्रम में उनकी पाकिस्तान की महिला दोस्त का विवाद भी सामने आ गया, जिनपर अब पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई के साथ लिंक होने के आरोप लग रहे हैं। बताया जा रहा है कि कैप्टन की ये दोस्त सालों से उनके घर आती-जाती रहतीं थीं। उनके शपथ ग्रहण समारोह में भी वो मौजूद थीं।

अभी तक कैप्टन के साथ रिश्ते और आईएसआई के साथ लिंक को लेकर चुप रहने वाली अरूशा ने अब इन आरोपों पर तीखी प्रतिक्रिया दी है। अरूशा आलम ने कहा कि वह पंजाब कांग्रेस के नेताओं से बेहद निराश हैं। इन आरोपों को लेकर वह बहुत आहत हुईं हैं, और अब वो कभी भारत वापस नहीं आएंगीं।

अरूशा ने आगे कहा कि मुझे विश्वास नहीं हो रहा है कि वे इतना नीचे गिर सकते हैं। सुखजिंदर रंधावा, पंजाब कांग्रेस प्रमुख नवजोत सिंह सिद्धू और उनकी पत्नी, कैप्टन को शर्मिंदा करने के लिए मेरा इस्तेमाल करने की कोशिश कर रहे हैं। इंडियन एक्सप्रेस से उन्होंने फोन पर बात करते हुए कहा- “मैं उनसे पूछना चाहती हूं कि क्या वे इतने दिवालिया हो गए हैं कि उन्हें अपने राजनीतिक उद्देश्यों के लिए मेरे नाम को घसीटना पड़ रहा है”।

पंजाब की राजनीति को लेकर उन्होंने कहा कि वो इसपर कोई टिप्पणी नहीं कर सकती हैं। उन्होंने कहा- “लेकिन मैं उन्हें बताना चाहती हूं कि वो फंस चुके हैं। मेरे पास उनके लिए एक संदेश है। कृपया बड़े हो जाओ और अपने घर को संभालो। पंजाब में कांग्रेस अपनी जमीन खो चुकी है। युद्ध के बीच में अपने सेनापति को कौन बदलता है?”

इस बातचीत के दौरान अरूशा ने आईएसआई के साथ लिंक होने के आरोपों पर कहा कि वो दो दशकों से, करीब 16 साल से, कैप्टन के निमंत्रण पर और उससे पहले, एक पत्रकार के रूप में और प्रतिनिधिमंडल के हिस्से के रूप में भारत आती रही हैं, लेकिन अचानक से वो लिंक अब उन्हें याद आ गए। उन्होंने कहा- “जब कोई पाकिस्तान से भारत आता है, तो उसके लिए एक पूरी जांच प्रक्रिया है। किसी भी प्रक्रिया को दरकिनार नहीं किया गया। उन्हें लगता है कि सभी एजेंसियां ​​मुझे ऐसे ही अनुमति दे रही थीं?”

इन विवादों के बीच सोमवार को, कैप्टन ने अरूशा आलम के साथ पूर्व केंद्रीय मंत्रियों सुषमा स्वराज और यशवंत सिन्हा, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और उत्तर प्रदेश के पूर्व सीएम मुलायम सिंह यादव के साथ तस्वीरें जारी कीं। इन तस्वीरों को जारी कर उन्होंने सवाल भी उठाया कि क्या ये नेता भी आईएसआई से संपर्क में हैं?

पढें राज्य समाचार (Rajya News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
ऐतिहासिक जनमत संग्रह में स्कॉटलैंड ने आजादी को नकारा
अपडेट