ताज़ा खबर
 

दिल्‍ली: पाकिस्‍तानी डिप्‍लोमैट ने महिला से की बहस, माफी मांगी तब जाने दिया

पाकिस्तान उच्चायोग के एक अधिकारी को रविवार (13 जनवरी) की शाम दिल्ली पुलिस ने तब बुला लिया जब उसने राजधानी के बाजार में एक महिला के साथ बहस की। अधिकारी ने जब लिखित में अपने बर्ताव को लेकर माफी मांगी तब जाकर दिल्ली पुलिस ने उसे जाने दिया।

Author January 14, 2019 1:51 PM
दिल्ली पुलिस का प्रतीकात्मक फोटो, फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

दिल्ली पुलिस द्वारा पाकिस्तान उच्चायोग के एक अधिकारी पर सख्ती बरतने का मामला सामने आया है। पाकिस्तानी डिप्लोमैट पर आरोप है कि दिल्ली के एक बाजार में उसने एक महिला के साथ बहस की थी। अधिकारी को महिला के साथ बहस करने का खामियाजा तब भुगतना पड़ा जब पुलिस ने उसे तलब कर लिया। समाचार एजेंसी एएनआई की खबर के मुताबिक विदेश मंत्रालय के सूत्रों ने बताया कि पाकिस्तान उच्चायोग के एक अधिकारी को रविवार (13 जनवरी) की शाम दिल्ली पुलिस ने बुला लिया और जब उसने राजधानी के बाजार में एक महिला के साथ बहस करने को लेकर लिखित में माफी मांगी तब उसे जाने दिया। वह महिला कौन थी जिसके साथ पाकिस्तानी डिप्लोमैट ने बहस की, इस बात की जानकारी नहीं लग पाई है और न ही पाकिस्तानी डिप्लोमैट के बारे में ज्यादा जानकारी सामने आई है। द एक्सप्रेस ट्रिब्यून की खबर के मुताबिक पाकिस्तान ने इस मामले को लेकर भारत के विदेश मंत्रालय से बात की है।

अखबार की वेबसाट पर प्रकाशित खबर के मुताबिक राजनयिक स्रोतों के हवाले से कहा गया है कि पाक उच्चायोग के अधिकारी को गिरफ्तार करना वियना सम्मेलन का उल्लंघन है और पाकिसान ने यह स्पष्ट किया है कि उसे ऐसी किसी भी घटना का प्रतिकार करने का अधिकार है। इस्लामाबाद ने कहा है कि भारत ने राजनयिक संबंधों के लिए वियना सम्मेलन का उल्लंघन किया है। वेबसाइट के मुताबिक पिछले वर्ष मार्च में नई दिल्ली में पाक उच्चायोग के उच्च स्तर के अधिकारियों और कर्मचारियों ने कहा था कि पिछले तीन दिनों से तरह-तरह के उत्पीड़न के लिए उन्हें निशाना बनाया जा रहा था।

वेबसाइट ने लिखा कि एक पाकिस्तानी अधिकारी को उस वक्त परेशान किया गया जब उसकी गाड़ी को चाणक्यपुरी में रोक दिया गया और उसके पास उच्चायोग वापस लौटने के अलावा और कोई विकल्प नहीं बचा था। वेबसाइट ने लिखा कि एक और घटना में पाकिस्तान के डिप्टी हाई कमिश्नर के बच्चों को स्कूल जाते समय रोका गया था और उनके ड्राइवर को परेशान किया गया था, सूत्रों ने कहा था कि हाल ही में उच्चायोग के वाहनों से जुड़े दो हादसों को भी जानबूझकर अंजाम दिया गया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X