ताज़ा खबर
 

पद्मावत: अब हरियाणा में हिंसा, सीएम खट्टर बोले- थिएटर वाले फिल्म न दिखाएं तो अच्छा, दिखाया तो देंगे सुरक्षा

संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावत को लेकर विवाद थमता नजर नहीं आ रहा है। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बावजूद लोग हाथ में कानून लेने से नहीं हिचकिचा रहे हैं और आगजनी और तोड़फोड़ जैसी घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं।

हरियाणा के मुख्यमंत्री ने कहा कि फिल्म पद्मावत दिखाने वाले सिनेमाघरों को सुरक्षा मुहैया कराई जाएगी। (फोटो – एएनआई और फिल्म का एक सीन)

संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावत को लेकर विवाद थमता नजर नहीं आ रहा है। विवाद ने अब हिंसा का रूप ले लिया और ताजा तस्वीरें बीजेपी शासित हरियाणा से आ रही है। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बावजूद लोग हाथ में कानून लेने से नहीं हिचकिचा रहे हैं और आगजनी और तोड़फोड़ जैसी घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं। हरियाणा मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि अगर सिनेमाघरों के मालिक फिल्म को न दिखाएं तो अच्छा हैं और अगर दिखाते हैं तो उन्हें सरकार की तरफ से सुरक्षा मुहैया कराई जाएगी, जैसा कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश का पालन कराना है। हरियाणा और राजस्थान की सरकार यह कहते हुए सुप्रीम कोर्ट के आदेश के खिलाफ अदालत का दरवाजा भी खटखटा चुकी हैं कि शीर्ष अदालत ने राज्यों में फिल्म से बैन हटाते वक्त उनका का पक्ष नहीं सुना। इसी सिलसिले में मंगलवार 23 जनवरी को सुप्रीम कोर्ट में दोनों राज्यों की सरकारों का पक्ष सुना जाएगा।

बता दें कि रविवार (21 जनवरी) को हरियाणा के कुरुक्षेत्र में एक मॉल में तोड़फोड़ की घटना के बारे में पता चला। समाचार एजेंसी एएनआई की खबर के मुताबिक चश्मदीदों ने बताया कि करीब 20-22 उपद्रवियों ने हथौड़ों और तलवारों से मॉल में तोड़फोड़ की और आग लगाई। पुलिस ने भी इस घटना की पुष्टि की और बताया कि शक के घेरे में फिल्म पद्मावत का विरोध कर रहे लोग हैं। पुलिस के मुताबिक करीब 22 लोगों ने शाम को 6.48 बजे घटना को अंजाम दिया। पुलिस ने दावा किया कि कुछ संदिग्धों की पहचान की गई है और की जांच चल रही है।

बता दें कि राजस्थान की करणी सेना शुरू से ही इस फिल्म के खिलाफ प्रदर्शन कर रही है। करणी सेना ने इस फिल्म में राजपूतों की कहानी को तोड़-मरोड़कर पेश करने का आरोप लगाया है और कहा कि संजय लीला भंसाली की फिल्म भारतीय इतिहास के साथ छेड़छाड़ कर बनाई गई है। करणी सेना समेत कई राजपूत संगठनों ने इस फिल्म की रिलीज को लेकर अंजाम भुगतने की धमकी दी थी। चार राज्यों राजस्थान, गुजरात, हरियाणा और मध्यप्रदेश में फिल्म को बैन करने की बात सामने आने पर फिल्म निर्माताओं की तरफ से वरिष्ठ वकील हरीश साल्वे ने सुप्रीम कोर्ट ने पक्ष रखा था। शीर्ष अदालत ने फिल्म से बैन हटा दिया था। बावजूद इसके देश भर में फिल्म के खिलाफ हिंसा की घटनाएं सामने आ रही हैं और शासन-प्रशासन स्थिति पर काबू करने का दावा कर रहा है।

पहले इस फिल्म का नाम पद्मावती थी। लेकिन बाद में विवाद बढ़ता देख फिल्म का नाम बदलकर पद्मावत किया गया था। फिल्म के कुछ सीन भी हटाए गए थे। फिल्म के एक गाने में फिल्म अभिनेत्री दीपिका पादुकोण के सीन में ग्राफिक्स का इस्तेमाल कर कमर ढकी गई थी। फिल्म में दीपिका के अलावा रणवीर सिंह और शाहिद कपूर मुख्य भूमिका में हैं। फिल्म 25 जनवरी को रिलीज होनी है।

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App