ताज़ा खबर
 

खूनी हुआ पद्मावती का विरोध: किले के अंदर झूलती लाश, साथ में नोट- हम सिर्फ पुतले नहीं लटकाते

संजय लीला भंसाली द्वारा निर्देशित इस फिल्म का लंबे समय से देश के अलग-अलग हिस्सों में विरोध प्रदर्शन हो रहा है।
किले पर लटकती मिली लाश की पहचान जयपुर निवासी चेतन सैनी (40) के रूप में हुई है।

फिल्म पद्मावती को लेकर विरोध-प्रदर्शन अब खूनी रूप लेता नजर आ रहा है। राजस्थान के जयपुर के पास स्थित नाहरगढ़ किले की प्राचीर पर एक शख्स की लाश लटकी हुई मिली है। शव के पास से स्यूसाइड नोट भी बरामद हुआ है। इसमें लिखा है कि यह शख्स स्क्रीनिंग के विरोध में पद्मावती का पुतला जलाए जाने से नाराज था। नोट को मुताबिक उसने कहा कि वह फिल्म पद्मावती को लेकर आत्महत्या कर रहा है। उसके शरीर पर लिखा था-पद्मावती का विरोध। हालांकि घटनास्थल पर एक पत्थर पर लिखा है-हम सिर्फ पुतले नहीं लटकाते। इससे शक मर्डर की ओर भी जाता है। पुलिस मामले की जांच में जुट गई है और यह पता लगाने की कोशिश कर रही है कि यह आत्महत्या है या मर्डर। किले पर लटकती मिली लाश की पहचान जयपुर निवासी चेतन सैनी (40) के रूप में हुई है। पुलिस ने लाश को किले से उतारकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। इस मामले में ज्यादा जानकारी का इंतजार है।

गौरतलब है कि संजय लीला भंसाली द्वारा निर्देशित इस फिल्म का लंबे समय से देश के अलग-अलग हिस्सों में विरोध प्रदर्शन हो रहा है। इस वजह से फिल्म निर्माताओं ने इसकी रिलीज भी टाल दी है। पहले फिल्म 1 दिसंबर को रिलीज होनी थी। राजपूत समूह करणी सेना का कहना है कि फिल्म में इतिहास के तथ्यों के साथ छेड़छाड़ की गई है। गौरतलब है कि फिल्म को ब्रिटेन में रिलीज की मंजूरी मिल गई है। यहां फिल्म बिना कोई दृश्य काटे दिखाई जाएगी। इसको लेकर लंदन में राजपूत समुदाय ब्रिटिश सेंसर बोर्ड के खिलाफ प्रदर्शन की योजना बना रहा है। हालांकि फिल्म के निर्माता वायकॉम18 का कहना है कि भारतीय सेंसर बोर्ड की मंजूरी के बिना इसे वैश्विक स्तर पर रिलीज करने की कोई योजना नहीं है। लंदन के राजपूत समाज ने ब्रिटिश सेंसर बोर्ड को पत्र लिखकर अपने फैसले पर पुनर्विचार करने को कहा है।

देखें वीडियो ः

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.